Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

डॉक्टरों के एप्रन और टाई और मोबाइल फैलाते हैं खतरनाक संक्रमण, रहें सावधान

मोबाइल फोन संक्रमण फैलाने के एक माध्यम के रूप में काम करते हैं क्योंकि उसे कभी रोगाणु मुक्त नहीं किया

डॉक्टरों के एप्रन और टाई और मोबाइल फैलाते हैं खतरनाक संक्रमण, रहें सावधान

नई दिल्ली. मोबाइल फोन संक्रमण फैलाने के एक माध्यम के रूप में काम करते हैं क्योंकि उसे कभी रोगाणु मुक्त नहीं किया जाता है। इस बीच, नए साक्ष्यों से पता चला है कि भारत में चिकित्सकों द्वारा पहने जाने वाले एप्रन और टाई को प्रतिबंधित किया जाना चाहिए क्योंकि वे संक्रमण के एक बड़े माध्यम हो सकते हैं।

ये भी पढें - डेटिंग के लिए परफेक्ट पार्टनर की तलाश हो तो अपनाएं ये 5 TIPS

इन माध्यमों से जब रोग फैलते हैं तो इसे अस्पताल द्वारा फैला संक्रमण माना जाता है। इस तरह के रोगों का उपचार वास्तव में कठिन होता है क्योंकि इस तरह के कीटाणु अस्पताल के माहौल में बहुत बलशाली हो जाते हैं।
अध्ययन इस बात की ओर इशारा करता है कि हर जगह पाए जाने वाले मोबाइल फोन में भी संक्रमण फैलाने वाले जीवाणु होते हैं क्योंकि स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा इन्हें कभी जीवाणु मुक्त नहीं बनाया जाता।
एक हालिया आस्ट्रेलियाई अध्ययन में यह पाया गया है कि उनके द्वारा विश्लेषित पांच प्रतिशत मोबाइल फोन जीवाणु फैलाने के स्रोत हैं।
तुर्की के एक अध्ययन के अनुसार स्वास्थ्य कर्मियों के 95 प्रतिशत मोबाइल फोन को विभिन्न बैक्टीरिया से दूषित पाए गए और उनमें से कुछ एंटी-बायटिक रोधी और उच्च संक्रामक थे।
इसी प्रकार चेन्नई स्थित र्शी रामचंद्र मेडिकल कालेज एंड शोध संस्थान के अध्ययन में यह पाया गया है कि स्वास्थ्य कर्मियों के 71 फीसदी मोबाइल फोन संक्रमण फैला रहे हैं। उन्होंने साथ ही पाया कि केवल 12 प्रतिशत डॉक्टरों ने कीटाणुनाशक से अपना मोबाइल साफ किया।
मोबाइल चूंकि शरीर के संपर्क में आते हैं इसलिए जीवाणुओं द्वारा संक्रमित हो जाते हैं। एक अध्ययन के मुताबिक अधिकतर डाक्टर एप्रन और टाई प्रोफेशनल दिखने के लिए ऐसा करते हैं।
मंगलोर स्थित ऐनेपोया मेडिकल कॉलेज के सामुदायिक चिकित्सा विभाग में काम करने वाले एडमंड फर्नांडीस ने सवाल उठाया क्या डाक्टरों को एप्रन पहनने की जरूरत है?
नीचे की स्लाइड्स में पढें, अन्य जानकारी -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर
Next Story
Top