logo
Breaking

आईनेट के जरिए भर्ती किए जाएंगे नौसेना में उम्दा अधिकारी, सितंबर में होगी पहली प्रवेश परीक्षा

नौसेना की भर्ती प्रक्रिया में यूपीएससी और यूनिवर्सिटी एंट्री स्कीम से आने वाले छात्रों को अलग रखा जाएगा।

आईनेट के जरिए भर्ती किए जाएंगे नौसेना में उम्दा अधिकारी, सितंबर में होगी पहली प्रवेश परीक्षा

Indian Navy Entrance Test 2019 : भारतीय नौसेना ने अपने बेड़े में प्रतिभावान अधिकारियों की संख्या में इजाफा करने के लिए पहली बार इंडियन नेवी एंट्रेंस टेस्ट (आईनेट/INET) की शुरूआत कर दी है। इसका आगाज देशभर के तमाम नौसैन्य केंद्रों पर आगामी सितंबर महीने से किया जाएगा। नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डी़ के़ शर्मा ने बताया कि आईनेट के जरिए स्नातक करने वाले छात्रों की भर्ती सीधे बल में अधिकारी के रूप में की जाएगी। इसकी खास बात यह होगी कि इस प्रवेश परीक्षा को नौसेना स्थायी कमीशन और सभी स्नातक रूट से शार्ट सर्विस कमीशन (एसएससी/SSC) के लिए आने वाली एंट्रियों की स्क्रीनिंग में भी प्रयोग करेगी।

इस वेबसाइट लिंक का प्रयोग करें

नई प्रक्रिया के हिसाब से हर छह महीने में नौसेना की ओर से एक विज्ञापन प्रकाशित किया जाएगा। जिसकी मदद से इच्छुक केंडिडेट्स उक्त परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। इसके लिए एंट्रीज, उम्र और शैक्षणिक योग्यता के बारे में www.joinindiannavy.gov.in लिंक पर जाकर जानकारी ली जा सकती है। आवेदक पहले वेबसाइट पर रजिस्टर कर सकते हैं। जिसके बाद अधिकृत रूप से आवेदन प्रक्रिया मंगवाने की शुरूआत होने पर पात्र उम्मीदवारों को स्वत: ईमेल अलर्ट मिलने लगेंगे।



नौसेना की भर्ती प्रक्रिया

यहां बता दें कि नौसेना की भर्ती प्रक्रिया में यूपीएससी और यूनिवर्सिटी एंट्री स्कीम से आने वाले छात्रों को अलग रखा जाएगा। वर्तमान में नौसेना में अधिकारी बनने के लिए आने वाले आवेदकों का चयन स्नातक, परा-स्नातक में आने वाले अंकों के आधार पर सर्विस सलेक्शन बोर्ड (एसएसबी) द्वारा साक्षात्कार के लिए शार्टलिस्ट करने के बाद किया जाता है। लेकिन अब एसएसबी के लिए शार्टलिस्टिंग के वक्त भी आईनेट परीक्षा में लिए गए अंकों को आधार बनाया जाएगा।

बढ़ेंगे गुणवत्ता वाले अधिकारी

कैप्टन शर्मा ने यह भी कहा कि नौसेना के लिए एक अलग प्रवेश परीक्षा शुरू करने के पीछे धीरे-धीरे बल में गुणवत्ता वाले केंडिडेटस की कमी होना है। इसी के मद्देनजर नौसेना ने एक विश्लेषण किया और अब यह पृथक प्रवेश परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया है।


जिसमें आवेदन करने के लिए एक न्यूनतम अंक प्रतिशत को आधार बनाया जाएगा। आईनेट परीक्षा के चार मुख्य भाग हैं। जिसमें अंग्रेजी, रीजनिंग, न्यूमेरिकल एबीलिटी, जनरल साइंस, मेथमेटिकल एप्टीट्यूड और जनरल नॉलेज शामिल है।

आवदेकों को इन सभी भागों को पास करना पड़ेगा। क्योंकि इसी के आधार पर उन्हें एसएसबी के लिए कॉल किए जाने में प्राथमिकता दी जाएगी। साथ ही इसके प्रदर्शन के आधार पर ही एसएसबी साक्षात्कार में भी प्राथमिकता मिलेगी।

अंतिम प्रवेश के लिए चयनित प्रतिभागियों को एसएसबी और मेडिकल जांच का पड़ाव पास करना अनिवार्य होगा। आईनेट और एसएसबी के अंकों के आधार पर अंतिम मेरिट लिस्ट लगाई जाएगी। इसमें शामिल होने वाले प्रतिभागियों को ही नौसैन्य अकादमी में बेसिक ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा।

Share it
Top