Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

स्कूलों पर सख्त हुआ CBSE, कहा- ऑनलाइन फीस न लेने वाले स्कूलों पर होगी कार्रवाई

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अब ऐसे स्कूलों पर कार्रवाई की तैयारी कर रहा है, जहां डिजिटल पेमेंट का ऑप्शन नहीं है। पिछले साल स्कूलों में प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ होने के पूर्व ही सीबीएसई ने स्कूलों को डिजिटल पेमेंट मोड का विकल्प उपलब्ध कराने कहा था।

स्कूलों पर सख्त हुआ CBSE, कहा- ऑनलाइन फीस न लेने वाले स्कूलों पर होगी कार्रवाई

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अब ऐसे स्कूलों पर कार्रवाई की तैयारी कर रहा है, जहां डिजिटल पेमेंट का ऑप्शन नहीं है। पिछले साल स्कूलों में प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ होने के पूर्व ही सीबीएसई ने स्कूलों को डिजिटल पेमेंट मोड का विकल्प उपलब्ध कराने कहा था। सीबीएसई ने सर्कुलर जारी करते हुए सभी संबद्ध स्कूलों को कैशलेस पेमेंट की व्यवस्था करने निर्देश दिए थे।

सीबीएसई के निर्देश के बाद भी बड़ी संख्या में ऐसे स्कूल हैं, जहां अब तक इसकी व्यवस्था नहीं हो पाई। स्कूल अब तक ट्यूशन फीस व अन्य राशि कैश के जरिए ही ले रहे हैं।

सीबीएसई इन स्कूलों पर अब कार्रवाई करेगा। बोर्ड ने इस संदर्भ में आदेशों का पालन नहीं करने वाले स्कूलों पर सख्ती बरतने का फैसला लिया है।

यह भी पढ़ेंः बेरोजगार युवाओं को मध्य प्रदेश सरकार ने दिया तोहफा, चुनाव से पहले 30 हजार पदों पर होगी भर्ती

वेतन एवं अन्य प्रक्रिया भी

सीबीएसई ने स्कूलों को न केवल फीस के संदर्भ में कैशलेस पेमेंट अपनाने कहा है, बल्कि स्कूलों में कार्यरत शिक्षकों, कर्मचारियों व अन्य संबद्ध व्यक्तियों को वेतन भुगतान भी अॉनलाइन मोड से ही करने निर्देश दिए थे।

इसके बाद भी अधिकतर स्कूलों में अभी भी ऑनलाइन वेतन भुगतान की व्यवस्था नहीं की जा सकी। स्कूलों को नोटिफिकेशन जारी करते हुए ऑनलाइन पेमेंट पर जोर देने कहा है।

यह भी पढ़ेंः CBSE Results 2018: गलत कैलकुलेशन करने वाले 130 शिक्षकों को नोटिस

वर्कशाॅप और अवेयरनेस कैंपेन भी

न केवल पालकों को ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की सुविधा देने बोर्ड ने कहा है, बल्कि छात्रों को भी कैशलेस पेमेंट के प्रति जागरूक करने कैंपेन चलाने निर्देश दिए गए हैं। इसके अंतर्गत स्कूलों को विभिन्न प्रतियोगिताएं कराने कहा गया है।

कैशलेस थीम पर स्लोगन राइटिंग, निबंध राइटिंग आदि प्रतियोगिताएं स्कूलों द्वारा कराई जाएंगी। सीबीएसई ने इस साल डिजिटलाइजेशन पर पूरा फोकस करने का निर्णय लिया है।

ऐसे स्कूलों को सूचीबद्ध किया जा रहा है, जहां कैशलेस पेमेंट की व्यवस्था नहीं है। प्रदेश के स्कूलों से भी इस संदर्भ में जानकारी मांगी गई है।

Next Story
Top