Logo
election banner
Razor pay Report: पेमेंट गेटवे रेजरपे ने अपनी एनुअल पेमेंट रिपोर्ट-2024 जारी की है। देश के टियर-2 और टियर-3 शहरों में UPI लिंक्ड क्रेडिट कार्ड पेमेंट तेजी से बढ़ने की बात सामने आई है। सबसे ज्यादा 200% खर्च वोकेशनल स्कूलों पर बढ़ा है।

Razor pay Report: भारत में फाइनेंशियल सर्विस सेक्टर के अग्रणी पेमेंट गेटवे रेजरपे (Razorpay) ने अपनी एनुअल पेमेंट रिपोर्ट-2024 जारी की है। इसमें डिजिटल ट्रांजैक्शन के पैटर्न को लेकर कई नई बातें सामने आई हैं। देश में पिछले वित्त वर्ष में क्रेडिट कार्ड लिंक्ड UPI (यूनीफाइड पेमेंट्स इंटरफेस) ट्रांजैक्शन में 12 गुना बढ़ोतरी हुई है। इसके अलावा पिछले 12 सालों में डिजिटल पेमेंट करीब 890% तक बढ़ा है। 

रिपोर्ट के अनुसार, यह ग्रोथ मुख्य रूप से क्रेडिट कार्ड की रकम से निकासी और इंवेस्टमेंट के प्रति बढ़ते रुझान को दर्शाती है। क्रेडिट कार्ड के पैसों से म्यूचुअल फंड्स में 86% और शेयर ट्रेडिंग में 62% ग्रोथ देखने को मिली है। कंपनी ने अपने नेटवर्क पर हुए पेमेंट का आंकलन कर यह रिपोर्ट तैयार की है।

क्रेडिट कार्ड UPI से कई सेक्टर में सेलिंग बढ़ी
Razor pay रिपोर्ट के मुताबिक, अप्रैल 2023 से मार्च 2024 के बीच कीमतों के आधार पर पेमेंट में 44% की बढ़ोतरी देखने को मिली है। जो संख्या के आधार पर 13% तक ज्यादा दर्ज किया गया है। हवाई सफर के खर्च में 140%, टूरिस्ट प्लेस पर रूकने में 29%, मूवी टिकट पर खर्च 42%, टिकट एजेंसियों की बिक्री 170%, ई लर्निंग खर्च 33%, वोकेशनल स्कूल खर्च  200% और दूरस्थ शिक्षा के खर्च में 19% इजाफा हुआ है। 

वर्ल्ड कप फाइनल के दौरान कैब, टैक्सी पेमेंट गिरा
रिपोर्ट में बताया गया है कि 19 नवंबर 2023 को क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल के दौरान दोपहर 2 बजे से रात 10 बजे तक लोग मैच का लुत्फ लेते रहे। इसके चलते देशभर में कैब और टैक्सी को होने वाला पेमेंट सामान्य दिनों के मुताबले 28% तक गिर गया। दूसरी ओर, हेल्थ, एंटरटेनमेंट, एजुकेशन और टूरिज्म सेक्टर में खर्च तेजी से बढ़ा है। एजुकेशन सेक्टर में वॉकेशनल स्कूलों के खर्च में 200% तक की बढ़ोतरी देखी गई है।

इन शहरों में बढ़ रहा है UPI लिंक्ड क्रेडिट कार्ड पेमेंट
रेजरपे के सीईओ शशांक कुमार ने बताया कि क्रेडिट कार्ड के जरिए होने वाले ट्रांजैक्शन में बढ़ोतरी की बात करें तो यूपीआई लिंक्ड क्रेडिट कार्ड पेमेंट तेजी से बढ़ रहा है। देश के टियर-2 और टियर-3 शहरों में काफी तेजी से यह पैटर्न बढ़ रहा है। रिपोर्ट से साफ है कि भारतीय नागरिकों में वित्तीय लेन-देन के लिए डिजिटल तौर-तरीकों को पसंद कर रहे हैं। जो देश की इकोनॉमी के लिए एक अच्छा संकेत है। 

धनतेरस पर ज्वेलरी की बिक्री में 800 फीसदी उछाल
इसके अलावा पिछले साल 10 नवंबर को धनतेरस पर ज्वेलरी की बिक्री आम दिनों के मुलाबले 800% बढ़ गई थी। दूसरी ओर, हेल्थ सेक्टर में लोगों का खर्च बढ़ा है। हेल्थ प्रोडक्ट पर 125%, सलाहकारों के पेमेंट में 45% और जिम/योग सेंटर के खर्च में 39% की बढ़ोतरी हुई है।

jindal steel Ad
5379487