Logo
election banner
Avtar Saini former Intel Chief Death: जानी मानी टेक कंपनी के पूर्व चीफ अवतार सैनी की गुरुवार सुबह मुंबई में एक सड़क हादसे में मौत हो गई। 68 साल के सैनी ने इंटेल के पेंटियम प्रोसेसर को डेवलप करने में अहम भूमिका निभाई थी। सैनी साल 1982 से 2004 तक इंटेल इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट थे।

Avtar Saini former Intel Chief Death: जानी मानी टेक कंपनी इंटेल के पूर्व चीफ अवतार सैनी की गुरुवार की सुबह मुंबई में सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। सैनी ने साल 1982 से लेकर 2004 तक इंटेल इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट के तौर पर काम किया गया था। इंटेल में अपने 22 साल के कार्यकाल में इंटेल Intel 386 और  Intel 486 समेत कई पेंटियम प्रोसेसर डेवलप करने में अहम भूमिका निभाई थी। सैनी ने इंटेल के कंट्री मैनेजर के साथ ही कई इंटेल साउथ एशिया के डायरेक्टर के तौर पर भी अपनी सेवाएं दी थी। 

बीते 10 साल से था साइक्लिंग का शौक
अवतार सैनी को साइक्लिंग का शौक था। वह बीते 10 साल से साइक्लिंग कर रहे थे। गुरुवार की सुबह करीब 5.50 बजे नेरूल इलाके के पाम बीच रोड पर साइकिल चला रहे थे। इसी दौरान पीछे से तेज गति से आ रहे एक टैक्सी ने उन्हें पीछे से टक्कर मार दी। इसके बाद ड्राइवर ने वहां से बचकर भागने की कोशिश की। ऐसे में सैनी की साइकिल का प्रेम टैक्सी के नीचे फंस गया और वह कुछ दूर तक घिसटते चले गए। उन्हें तुरंत नजदीक के अस्पताल में ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

सैनी के दोनों बच्चे अमेरिका में रहते हैं
इंटेल इंडिया के प्रेसिडेंट गोकुल वी सुब्रमणियम ने अवतार सैनी के निधन पर शोक प्रकट किया है। वह एक प्रतिभावान इन्वेंटर थे। सैनी को इंटेल में हमेश एक मेंटर के तौर पर याद किया जाएगा। बता दें कि सैनी मुंबई के चेंबूर इलाके में रहते थे। उनकी पत्नी का तीन साल पहले निधन हो गया था। सैनी का एक बेटा और एक बेटी है। दोनों अमेरिका में रहते हैं। सैनी अगले महीने अपने बच्चों के पास जाने की योजना बना रहे थे। 

वीजेटीआई मुंबई के एलुमनाई थे सैनी (Who was Avtar Saini?)
सैनी का जन्म भारत में हुआ और वे यहीं पर पले बढ़े थे। इंटेल के पूर्व चीफ ने वीजेटीआई मुंबई से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री हासिल की थी। उन्होंने मास्टर्स की शिक्षा अमेरिका के मिन्नेसोटा यूनिवर्सिटी से पूरी की थी। सैनी ने साल 1982 में इंटेल जॉइन किया था लेकिन 1993 में पेंटियम प्रोसेसर के बनने के बाद कंपनी में उनका कद तेजी से बढ़ा। सैनी ने पेंटियम प्रोसेसर के डेवलम होने से लेकर इसके प्रोडक्शन को बढ़ाने में योगदान दिया। 

5379487