Logo
election banner
Manohar Joshi Passes Away: दो दिन पहले बुधवार को दिल का दौरा पड़ने पर पूर्व सीएम मनोहर जोशी को मुंबई के पीडी हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जोशी का अंतिम संस्कार शिवाजी पार्क श्मशान में किया जाएगा।

Manohar Joshi Passes Away: महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज शिवसेना सेना मनोहर जोशी का शुक्रवार को मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया। वह 86 वर्ष के थे। दो दिन पहले बुधवार को दिल का दौरा पड़ने पर उन्हें मुंबई के पीडी हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जोशी का अंतिम संस्कार शिवाजी पार्क श्मशान में किया जाएगा।

शिवसेना के पहले मुख्यमंत्री थे मनोहर जोशी
मनोहर जोशी 1995 से 1999 तक महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे। वे महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद तक पहुंचने वाले अविभाजित शिव सेना के पहले नेता थे। जोशी सांसद भी चुने गए और 2002 से 2004 तक लोकसभा अध्यक्ष रहे। 2 दिसंबर 1937 को महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के नंदवी में जन्मे मनोहर जोशी की शिक्षा मुंबई में हुई थी।

उनका विवाह अनघा मनोहर जोशी से हुआ था। जिनका 2020 में 75 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। परिवार में एक बेटा और दो बेटियां हैं।

मनोहर जोशी का राजनीतिक करियर
मनोहर जोशी ने अपना करियर एक शिक्षक के रूप में शुरू किया था। 1967 में वे राजनीति में उतरे। इसके बाद वह 40 वर्षों से अधिक समय तक शिवसेना से जुड़े रहे। जोशी 1968-70 के दौरान मुंबई में नगर निगम पार्षद और 1970 में स्थायी समिति (नगर निगम) के अध्यक्ष थे।

उन्होंने 1976 से 1977 तक एक वर्ष के लिए मुंबई के मेयर के रूप में भी कार्य किया। इसके बाद वे 1972 में महाराष्ट्र विधान परिषद के लिए चुने गए। उन्होंने विधान परिषद में अपना तीन कार्यकाल पूरा किया। इसके बाद मनोहर जोशी 1990 में विधान सभा पहुंचे। 1990-91 के दौरान विधानसभा में उन्हें विपक्ष का नेता चुना गया। 1999 के जब आम चुनाव हुए तो उन्होंने शिवसेना के टिकट पर मुंबई उत्तर-मध्य लोकसभा सीट से अपनी जीत का परचम लहराया। 

बाल ठाकरे के बेहद करीबी थे मनोहर जोशी
मनोहर जोशी का कद शिवसेना में काफी ऊंचा था। उन्हें शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे का बेहद करीबी माना जाता था। यही वजह थी कि वे उन्हें पार्टी का पहला मेयर, पहला मुख्यमंत्री और लोकसभा स्पीकर बनाया गया। 

jindal steel Ad

Latest news

5379487