Logo
हरियाणा में नौतपा की भीषण गर्मी के बीच बुधवार शाम को हुई बूंदाबांदी ने न केवल धूल भरी आंधी से निजात दिलाई, बल्कि भीषण गर्मी से भी कुछ हद तक राहत देने का कार्य किया। हालांकि दिनभर सूर्य देवता आग उगलते रहे, जिसके कारण लूं चलती रही।

Haryana: नौतपा की भीषण गर्मी के बीच बुधवार शाम को हुई बूंदाबांदी ने न केवल धूल भरी आंधी से निजात दिलाई, बल्कि भीषण गर्मी से भी कुछ हद तक राहत देने का कार्य किया। भीषण गर्मी ने लोगों के दिन का चैन तथा रात की नींद छीनी हुई है। रात को भी मौसम का मिजाज गर्म रह रहा। भीषण गर्मी के चलते नागरिक अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में गर्मी व लू की शिकायतें लेकर मरीज पहुंच रहे हैं। ऐसे में चिकित्सकों ने सलाह दी कि दिन के समय बच्चे और वृद्ध सीधी धूप में बाहर न निकलें और ज्यादा हैवी काम ना करें। समय-समय पर पानी पीते रहें। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के चलते तापमान में कुछ गिरावट आएगी लेकिन गर्मी से राहत मिलने के आसार नहीं है।

दिन निकलने के साथ सूर्य ने उगली आग, शाम को बूंदाबांदी ने दी कुछ राहत

बुधवार को दिन का आगाज सूरज के तीखे तेवरों के साथ हुआ। दिन चढ़ने के साथ तापमान में इजाफा होने और हवा काफी गर्म हो गई। सुबह दस बजे तापमान 39 डिग्री को छू गया। दोपहर तक गर्म हवा लू में तबदील हो गई। सड़कों तथा बाजारों में सन्नाटा पसर गया। हालात कर्फ्यू जैसे हो गए। भीषण गर्मी से बचने के लिए लोग अपने घरों में दुबके रहे। दिनभर आसमान से आग बरसती रही। शाम को मौसम ने करवट ली। तेज हवा के साथ धूल उड़ने लगी। जो कुछ समय के लिए आंधी में तब्दील हो गई। जिसके साथ बूंदाबांदी भी शुरू हो गई। बूंदाबांदी ने आंधी तथा गर्मी से कुछ हद तक राहत दी। भीषण गर्मी के कारण बिजली कट भी इस दौरान लगते रहे।

भीषण गर्मी से जनजीवन अस्त व्यस्त, कामकाज हो रहे प्रभावित

पिछले एक पखवाड़े से लगातार भीषण गर्मी पड़ रही है। जिसका असर लोगों के जनजीवन तथा दिनचर्या पर साफ देखने को मिल रहा है। जो लोग दिहाड़ी, मजदूरी से जुडे़ हुए हैं, उन्हें ज्यादा दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। लोग गर्मी को देखते हुए जल्दी से अपने कामकाज को निपटा कर घरों में दुबक रहे हैं। देर शाम होने पर ही बाहर निकल पा रहे हैं। भीषण गर्मी के आगे पंखे, कूलर तथा एसी भी बौने साबित हो रहे हैं। कृषि कार्य भी भीषण गर्मी से अछूते नहीं है।

इमरजेंसी में बढ़ी लू व गर्मी से बीमार लोगों की संख्या

तापमान बढ़ने के साथ ही हीट स्ट्रोक का खतरा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में नागरिक अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में गर्मी व लू लगने के मरीज ज्यादा आ रहे हैं। चिकित्सकों ने लोगों को भीषण गर्मी में बाहर न निकलने तथा ज्यादा से ज्यादा स्वच्छ पेय पदार्थ लेने की सलाह दी। जरूरी होने पर पूरे शरीर को कपडे़ से ढांप कर निकलने को कहा है। कृषि विशेषज्ञों ने किसानों को गर्मी को देखते हुए शाम को फसलों में सिंचाई की सलाह दी है। वहीं मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि फिलहाल गर्मी से राहत के कोई आसार नहीं हैं। तापमान में दो से तीन डिग्री की गिरावट जरूर देखने को मिलेगी।

पश्चिमी विक्षोभ के चलते 3 दिन आकाश में दिखेंगे बादल

मौसम वैज्ञानिक डॉ. राजेश ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण अगले दो से तीन दिन आकाश में बादलवाई देखने को मिलेगी। तापमान में हलकी गिरावट आएगी, लेकिन गर्मी से राहत नहीं मिलेगी। इसके बाद फिर से तापमान में इजाफा होगा। उन्होंने किसानों का सलाह दी कि वे शाम के समय अपनी फसलों की सिंचाई करें, ताकि फसलों को नष्ट होने से बचाया जा सके।

jindal steel hbm ad
5379487