Logo
election banner
Delhi Metro News: दिल्ली मेट्रो में हर रोज लाखों लोग सफर करते हैं। इसके बिना दिल्ली वाले काफी परेशान हो जाते हैं। लेकिन मेट्रो के इन 29 स्टेशनों पर यात्रियों को सतर्क रहने की जरूरत है।

Delhi Metro News: दिल्ली की लाइफ लाइन कही जाने वाली दिल्ली मेट्रो में रोजाना लाखों लोग सफर करते हैं। इसके बिना दिल्ली के लोगों को सफर करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। मेट्रो में सफर करने से यात्रियों को साफ, आरामदायक और सुविधाजनक सफर मिलता है। लेकिन क्या आपको पता है कुछ लोग दिल्ली मेट्रो में गलत मकसद को पूरा करने के लिए आते हैं। आज चोरों और जेबकतरों के लिए मेट्रो स्टेशन खुला मैदान है। पुलिस ऐसी जगहों पर सख्ती बढ़ाने में लगी है। इसके अलावा, ऐसे अपराधियों की फोटो जवानों को दे दी गई है। 

इन 29 स्टेशनों पर रहे सतर्क 

मेट्रो में चोरी की बढ़ती घटनाओं पर विराम लगाने के लिए दिल्ली पुलिस ने  ऐसे कई मेट्रो स्टेशन की पहचान की है, जहां पर यात्रियों को काफी सतर्क रहने की जरूरत है। पुलिस ने बताया कि कुछ मेट्रो स्टेशन हैं, जहां यात्रियों को सतर्क, सजग और सावधान रहने की जरूरत है। पुलिस ने 29 मेट्रो स्टेशन पर कड़ी निगरानी करनी शुरू कर दी है, जहां सबसे ज्यादा अपराध होते हैं। 

ऐसी घटनाओं पर रोक लगाने के लिए यहां सुरक्षा के इंतजाम बढ़ा दिए गए हैं। पिछले साल इन क्राइम हॉटस्पॉट पर 3 हजार से ज्यादा वारदातों की सूचना पुलिस को मिली थी। इन 29 स्टेशनों पर यात्रियों को सतर्क रहने की जरूरत है। 

पुलिस इन स्टेशनों पर बढ़ाएगी सख्ती 

पुलिस के मुताबिक, जिन स्टेशनों पर यात्रियों को सतर्क रहने की जरूरत है। उनमें- वेलकम, कश्मीरी गेट, चांदनी चौक, नई दिल्ली, अशोक पार्क मेन, पंजाबी बाग, कीर्ति नगर, करोल बाग, राजीव चौक, इंद्रलोक, जीटीबी नगर, जहांगीरपुरी, द्वारका मोर, जनकपुरी पश्चिम, नई दिल्ली एयरपोर्ट लाइन, द्वारका सेक्टर-21, हौज खास, छतरपुर, कुतुब मीनार, आईएनए, सरोजनी नगर, सराय काले खां, निजामुद्दीन, लाजपत नगर, गोविंदपुरी, कालकाजी मंदिर, आनंद विहार, यमुना बैंक, मंडी हाउस और लाल किला मेट्रो स्टेशन शामिल हैं। 

कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन पर चोरी की घटनाएं ज्यादा 

दिल्ली पुलिस के आंकड़ों के अनुसार, कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन पर सबसे ज्यादा ऐसे मामले दर्ज किए गए है। वहीं 2023 में 1,003 केस आए थे। इसके बाद राजीव चौक  पर 418 और फिर नई दिल्ली 385 का स्थान रहा। पुलिस के अनुसार, स्टेशन परिसर में ज्यादातर अपराध चोरी, जेबकतरी और वाहन चोरी के थे। अगर 2022 की बात करें, तो इन 29 स्टेशनों से 1,811 मामले सामने आए थे। पिछले साल सभी स्टेशनों पर कुल मिलाकर 5,709 चोरी की घटनाएं दर्ज की गई। जिनमें 599 गिरफ्तारियां हुआ और 2,407 मामले सुलझाए गए थे। 

इतने मामलों में से इतने सुलझाए गए 

बीते साल 113 वाहन चोरी मामलों में से 96 मामलों को सुलझा लिया गया। छेड़छाड़ के 22 मामलों में से 21 को सुलझाया गया और 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया। डीसीपी मेट्रो राम गोपाल नायक का कहना है कि मेट्रो स्टेशन पर हालात बदलने को लेकर आशान्वित हैं। उन्होंने आगे बताया कि हॉटस्पॉट की पहचान कर वहां कार्रवाई की जा रही।वहीं, 25 एसएचओ को इन स्टेशनों की पहचान कर अपराध की श्रेणी में बांटने का आदेश दिया गया है। 

jindal steel Ad
5379487