Logo
election banner
Alipur Fire News: अलीपुर आगकांड से मरने वालों की संख्या 11 हो गई है, वहीं 4 लोग घायल हैं। मृतकों को बाबू जगजीवन राम अस्पताल ले जाया गया है और चार घायलों को राजा हरिश्चंद्र अस्पताल ले जाया गया है। पुलिस मृतको की पहचान करने में जुटी है।

Alipur Fire News: दिल्ली के नरेला में बीते दिन गुरुवार शाम को घर में चल रही पेंट फैक्ट्री में भीषण आग लगने से भीषण हादसा हो गया है। इस में 11 लोगों की जिंदा जलकर मौत हो गई। जबकि 4 लोग बुरी तरह जख्मी हो गए हैं। मृतकों को बाबू जगजीवन राम अस्पताल ले जाया गया है। वहीं, घायलों का राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में इलाज चल रहा है। घटना की जानकारी मिलने पर दमकल की दो दर्जन गाड़ियां मौके पर पहुंची। बताया जा रहा है कि घर के अंदर केमिकल और प्लास्टिक काफी मात्रा में रखा हुआ था। जिसकी वजह से आग तेजी से फैल गई और देखने ही देखते कुछ देर में आग ने भीषण रूप ले लिया। इस बीच दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने घटना स्थल का दौरा किया। 

पीड़ित परिजनों से मिलें सीएम केजरीवाल 

इस हादसे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गहरी संवेदना जताई है। उन्होंने शुक्रवार की सुबह 11:30 बजे मृतकों के परिजनों से उनके आवास पर मुलाकात किया। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  ने पीड़ितों के परिवारों को 10 लाख रुपये की अनुग्रह राशि की ऐलान किया। वहीं, गंभीर रूप से घायलों के लिए 2 लाख रुपये और जिन्हें मामूली चोटें आई हैं उन्हें 20,000 रुपये जाएंगे। इसके अलावा आग में जलने वाली आसपास की दुकानों और घरों को भी नुकसान का आकलन कर मुआवजा दिया जाएगा।

दिल्ली बीजेपी ने भी मृतकों के परिजनों को सहायता देने का किया ऐलान 

वहीं, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने भी घटना स्थल पर पहुंचकर पीड़ित परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी घायल लोगों की मदद करेगी और मृतकों के परिजनों को 50,000 रुपये की तत्काल सहायता देने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार और सीएम अरविंद केजरीवाल को इस घटना की पूरी जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

मृतकों की अभी तक नहीं हो पाई पहचान 

जानकारी के मुताबिक आग इतनी भयानक थी कि आसपास के भी चार अन्य घरों को आग ने अपनी चपेट में ले लिया। जानकारी के मुताबिक, दमकल कर्मीयों के तीन घंटे के मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। जानकारी के मुताबिक आग के लगने के बाद आस पास के घरों में अफरा तफरी मच गई। जिसमें कई लोगों के घायल हो हो गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अभी तक इस हादसे के मृतकों की पहचान नहीं हो पाई है। मृतकों के शरीर पूरी तरह से जल गए हैं। उनकी पहचान करना भी मुश्किल हो पा रहा है। पुलिस और दमकल डिपार्टमेंट घटनास्थल पर छानबीन में जुटे हैं। 

फैक्ट्री में रखा हुआ था भारी मात्रा में केमिकल और प्लास्टिक 

दमकल विभाग के मुताबिक, आग गुरुवार शाम करीब 5.25 बजे भोरगढ़ इलाके में स्थित मकान नंबर-692, दयाल मार्केट अलीपुर स्थित एक फैक्ट्री में लगी। यह फैक्ट्री एक घर में चल रही थी। देखते-देखते आग ने पूरी इमारत को अपनी जद में ले लिया। सूचना मिलते ही दमकल विभाग की 24 गाड़ियां, कैट्स एंबुलेंस, लोकल पुलिस, सीनियर पुलिस अफसर पहुंचे। बताया जा रहा है कि घर के अंदर केमिकल और प्लास्टिक काफी मात्रा में रखा हुआ था। जिसकी वजह से आग तेजी से फैली गई और उसने कुछ देर में भीषण रूप ले लिया। फायर कर्मियों ने आसपास के घरों को एहतियात के तौर पर खाली करा दिया।

घर में चल रही थी फैक्ट्री

पुलिस कहना है कि जिस घर में आग लगी उस घर में फैक्ट्री चल रही थी। उसके आस पास संकरी गलियां हैं। केमिकल वाली जगह पर ब्लास्ट होने से आग और तेजी से फैल गई। इसके बाद आस पास के चार और घर आग की चपेट में आ गए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक फैक्ट्री के सामने ही एक घर में नशा मुक्ति केंद्र चलता है। जहां से 22 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। हालांकि, एक घर में चार लोग जख्मी हुए हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान एक पुलिस कांस्टेबल भी घायल हो गया है।

5379487