Logo
election banner
संपूर्ण एशिया की पहली संगीत विश्वविद्यालय मानी जाने वाली खैरागढ़ संगीत एवं कला विव के छात्रों ने नेशनल यूथ फेस्टिवल में सफलता के झंडे गाड़े हैं।

खैरागढ़। इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ ने 37वीं अंतर्विश्वविद्यालयीन युवा महोत्सव 'हुनर हार्वेस्टिंग' में शानदार प्रदर्शन किया है। विवि ने शास्त्रीय गायन, तबला और स्पॉट पेंटिंग समेत तीन विधाओं पर टॉप में जगह बनाते हुए एक बार फिर राष्ट्रीय पटल पर अपना नाम स्थापित किया है। 

विवि के छात्रों ने क्ले मॉडलिंग, सुगम संगीत, कथक, लोक संगीत और थिएटर जैसी विधाओं में भी खैरागढ़ विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने शानदार प्रदर्शन किया है। कुलपति पद्मश्री डॉ. ममता चंद्राकर, कुलसचिव प्रो डॉ. नीता गहरवार समेत विश्वविद्यालय परिवार ने प्रतिभागी विद्यार्थियों को बधाई और शुभकामनायें दी हैं। 

लुधियाना एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में आयोजित हुआ नेशनल यूथ फेस्टिवल 

इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ की अधिष्ठाता (छात्र कल्याण) डॉ देवमाईत मिंज ने बताया कि, पंजाब के लुधियाना स्थित एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में आयोजित नेशनल यूथ फेस्टिवल 'हूनर हार्वेस्टिंग' में देश के 106 विश्वविद्यालयों ने भाग लिया। 2500 से ज्यादा विद्यार्थी इस फेस्टिवल में प्रतिभागी के रूप में शामिल हुए। इन सबके बीच इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ के प्रतिभागियों ने शानदार प्रदर्शन किया। 

women1 

इन्होंने हासिल किया खिताब

शास्त्रीय गायन में किशन प्रकाश ने, तबला वादन में भावना चौहान ने तथा स्पॉट पेंटिंग में रितेश साहू ने पहला स्थान प्राप्त करते हुए एक बार फिर छत्तीसगढ़ और खैरागढ़ विश्वविद्यालय के नाम को राष्ट्रीय स्तर पर रोशन किया है। विश्वविद्यालय की प्रतिष्ठा को बढ़ाने में विश्वविद्यालय के अन्य प्रतिभागियों ने भी महत्वपूर्ण योगदान दिया है। यथा सुगम संगीत में प्रथा रामटेके ने तथा फोक आर्किस्ट्रा में लोक संगीत विभाग के समूह ने अपने प्रतिद्वंदियों को पीछे करते हुए दूसरा स्थान प्राप्त किया. इसी तरह, क्ले मॉडलिंग में राहुल रूँझे ने, कथक में हिमाश्री शर्मा तथा माइम में थिएटर विभाग के समूह ने सम्मानजनक प्रदर्शन करते हुए तृतीय स्थान प्राप्त किया है।

टीम मैनेजरों की रही बड़ी भूमिका

यूथ फेस्टिवल में शामिल होने गई टीम के साथ पूरे समय मौजूद डॉ. देवमाइत मिंज तथा डॉ. संदीप किंडो ने टीम मैनेजर के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। विश्वविद्यालय की कुलपति, कुलसचिव के अतिरिक्त समस्त अधिष्ठातागण, प्राध्यापकगण, शिक्षकों, संगतकारों, अधिकारी कर्मचारी समेत पूरे विश्वविद्यालय परिवार ने इस उपलब्धि पर हर्ष व्यक्त करते हुए प्रतिभागी विद्यार्थियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं.

5379487