Logo
election banner
कांग्रेस विधायक कविता प्राण लहरें के वायरल वीडियो को लेकर आज दिलीप सिंह जूदेव के सुपुत्र और भाजपा नेता प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने उन पर कार्यवाही की मांग की है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के बिलाईगढ़ की कांग्रेस विधायक कविता प्राण लहरें का वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। वीडियो में वो कह रही हैं कि, वे इन्हीं की कृपा से विधायक बनी है जिसके बाद अब सियासी बवाल मच गया है। वीडियो को लेकर दिलीप सिंह जूदेव के सुपुत्र और भाजपा नेता प्रबल प्रताप सिंह ने पलटवॉर किया है।

अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि, यह वीडियो अपने आप में प्रमाण है की किस तरह कांग्रेस पार्टी और उनके सदस्य धर्मांतरण को प्रोत्साहित करके पूरे प्रदेश को गुमराह करने का काम कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि, आपको ज्ञात हो कि, विगत दिनों विधायक के वक्तव्य का वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें जिसमें कविता प्राण लहरें लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही हैं कि, पप्पा जी और ईसा मसीह की कृपा ने ही उन्हें विधायक बनाया है। जनता की इसमें कोई भूमिका नहीं है। ईसाइयत का यह रूप नया नहीं है उसने कांटे से कांटा निकालने का काम किया है।

विधायक कर रही ईसाई धर्म का प्रचार 

उन्होंने आगे कहा कि, विधायक महोदया जिस पप्पा जी का जिक्र वीडियो में कर रही हैं उसका नाम विजेंद्र सिंह बताया जा रहा है। ये खुद सनातन धर्मावलंबी हैं बावजूद इसके दोनो व्यक्तियों को मंच प्रदान कर ईसाई मिशनरियां बड़ी सफाई से इनके वक्तव्य को प्रचारित कर धर्मांतरण का नंगा खेल खेल रहे हैं। इसे कृप्टो क्रिस्टियनिट कहते हैं जिसमें गैर ईसाई समाज के लोगों को उनका बिना धर्म बदले ही धर्मांतरण कर दिया जाता है। जिसमें वह ईसाइयत की हर धार्मिक मान्यता को स्वीकारता हुआ अपने मूल धर्म में बना रहता है और लोगों को गुमराह एवं  प्रेरित करता है।

एसपी से की कार्यवाही की मांग 

छत्तीसगढ़ के फायर ब्रांड हिंदू नेता एवं अखिल भारतीय घरवापसी प्रमुख प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि, तत्कालीन सुकमा पुलिस कप्तान ने जब लिखित रूप में सरकार से शिकायत की थी तो कांग्रेसी मानने को तैयार नहीं हुए थे कि, ऐसा हो रहा है परंतु विधायक महोदया ने दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया है। उन्होंने सरकार और अपनी नियत उजागर कर दी है। इससे साफ जाहिर होता है कि, कांग्रेस सरकार धर्मांतरण के काम में सतत शामिल रही और छत्तीसगढ़ के डेमोग्राफी को बदलकर कर अपनी सत्ता कायम करने की नाकाम कोशिश करती रही हैं। उन्होंने आगे कहा कि, तत्कालीन सुकमा पुलिस कप्तान के रिपोर्ट को आधार बनाकर पूरे प्रकरण की जांच होनी चाहिए और वर्तमान जारी वीडियो को साक्ष्य मानकर इस पर गंभीर चिंतन एवं कार्यवाई की जानी चाहिए। बाहरी शक्तियां किस तरह भारतीय लोकतंत्र को खोखला बना रही हैं यह इस घटनाक्रम से जाहिर होता है। क्योंकि जहां भी हिंदू घटा है वह क्षेत्र भारत से कटता चला गया। धर्मांतरण ही राष्ट्रांतरण है सरकार से मैं निवेदन करता हूं कि तत्काल इस विषय पर जांच गठित कर कार्यवाही की पहल करें।

5379487