Logo
ऑपरेशन सूर्य शक्ति के तहत अब जवान नक्सलियों के उन इलाकों तक पहुंच रहे हैं जहां पर नक्सली अपना ट्रेनिंग कैंप संचालित कर रहे हैं।

जीवानंद हलधर- जगदलपुर। ऑपरेशन सूर्य शक्ति के तहत अब जवान नक्सलियों के उन इलाकों तक पहुंच रहे हैं जहां पर नक्सली अपना ट्रेनिंग कैंप संचालित कर रहे हैं। नक्सलियों का गढ़ कहे जाने वाले अबूझमाड़ के घने जंगलों में कैंप लगाकर वे अपने लड़ाकों को ट्रेनिंग दे रहे हैं। अब जवान उनके घर में घूसकर ऑपरेशन को अंजाम दे रहे हैं, जिनमें उन्हें सफलता मिल रही है।  

बता दें कि, छत्तीसगढ़ में जवानों ने नक्सलियों के खात्मे के लिए ऑपरेशन सूर्य शक्ति लांच किया है। इसके तहत वे लगातार उन इलाकों को लाल आतंक से मुक्त कराने का काम कर रहे हैं। पिछले दिनों बीजापुर, दंतेवाड़ा और नारायणपुर के सैकड़ों जवानों ने संयुक्त ऑपरेशन चलाया था जिसमें 8 नक्सलियों को ढेर कर दिया था। मुठभेड़ के बाद एरिया सर्चिंग में मिले कुछ दस्तावेजों के अनुसार, नक्सलियों के बड़े कैडर यहां पर लड़ाकों को ट्रेनिंग दे रहे हैं। इन बड़े कैडरों पर इनाम भी रखा गया है। 

नक्सलियों का सेफ जोन है ‘अबूझमाड़’

अबूझमाड़ का यह इलाका अब तलक अबूझ ही है और इसी बात का फायदा नक्सली उठाते हैं। यहां के घने जंगल और प्रकृति का सहारा लेकर वे हर बार बच निकलते हैं। अबूझमाड़ नक्सलियों का सेफ जोन है। इसलिए इस बार जवानों ने उनके इस सेफ जोन पर ही हमला करने की ठान ली है और लगातार इन इलाकों में सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं।

jindal steel Ad
5379487