Logo
election banner
शराब घोटाले की नए सिरे से जांच शुरू होने के बाद कार्रवाई तेजी से आगे बढ़ती दिख रही है। कोर्ट ने आज तीन आरोपियों को जांच एजेंसी की रिमांड पर भेज दिया है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के शराब घोटाले की जांच कर रही ACB - EOW को बड़ी सफलता मिली है। इस मामले में आरोपी अनवर ढेबर और अरविंद सिंह की रिमांड 19 अप्रैल तक बढ़ा दी गई है। वहीं बिहार से गिरफ्तार कर रायपुर लाए गए अन्य आरोपी अरुणपति त्रिपाठी की भी रिमांड 18 अप्रैल ते के लिए कोर्ट ने ACB - EOW को सौंपी है।

इस मामले की जांच नए सिरे से शुरू होने के बाद आरोपियों मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं। छत्तीसगढ़ के बड़े और बहुचर्चित घोटालों में शामिल हाई प्रोफाईल आरोपियों की आज जिला न्यायालय में पेशी हुई। शराब घोटाले केस में ACB/EOW ने कल ही पूर्व विशेष सचिव अरुण पति त्रिपाठी को गिरफ्तार किया था। वहीं 4 अप्रैल से हिरासत में रखे गए अनवर ढेबर और अरविंद सिंह की रिमांड भी आज 12 अप्रैल को खत्म हुई तो उन्हें कोर्ट में पेश किया गया। इस मामले में आज तीनों आरोपियों को एक साथ अदालत में पेश किया गया। 

तीनों को एक साथ कोर्ट लेकर पहुंची जांच एजेंसी

इस केस में अपना पक्ष रखते हुए रिमांड की तारीख बढ़ाने ईओडब्ल्यू की टीम अनवर ढेबर, अरविंद सिंह और अरुण पति त्रिपाठी को लेकर कोर्ट पहुंची थी। तीनो आरोपियों को ईओडब्लू ने न्यायाधीश निधि शर्मा तिवारी की कोर्ट में पेश किया। इस मामले में आरोपी और ACB/EOW दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद रिमांड बढ़ा दी गई।

ACB/EOW की छापेमार कार्रवाई

वहीं ACB/EOW ने शराब घोटाले केस में शुक्रवार को जांच का दायरा बढ़ाते हुए अनवर ढेबर के अन्य ठिकानों पर भी छापा मारा है। EOW की टीम अनवर ढेबर के साथ ही उससे जुड़े लोगो के ठिकानों पर भी पहुँच रही है। आज ACB/EOW ने होटल वेनिंगटन कोर्ट, पेंशनबाड़ा स्थित घर समेत चार ठिकानों पर भी छापेमार कार्रवाई की है। इस मौके पर ईओडब्ल्यू के अधिकारी बड़ी संख्या में सुरक्षा बल के साथ मौजूद रहे।

5379487