Logo
बलौदाबाजार में कलेक्ट्रेट बिल्डिंग को जला देने की घटना ने प्रदेशवासियों को अचंभित कर दिया है। विजय शर्मा ने मजबूत और कड़े निर्णय लेने वाले नेता की छवि के साथ गृहमंत्रालय की बागडोर संभाली थी। 

बलौदाबाजार। छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार में हुई हिंसा के बाद इस पर चल रही सियासत के बीच प्रदेश के गृहमंत्री विजय शर्मा ने कहा है कि, इस घटना के बाद से प्रदेश में कानून व्यवस्था पर सवाल उठना लाजिमी है। गृह मंत्री होने के बाद भी मैं इस बात को कह रहा हूं। प्रदेश के पूरे जिले में क्या स्टैंडर्ड पुलिसिंग होना चाहिए और इस पर काम हो रहा है। शीघ्र ही इसे सभी जिलों में लागू कर दिया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि, बलौदाबाजार के मामले में SP और कलेक्टर को निलंबित कर दिया गया है। उनकी घोर लापरवाही की वजह से ऐसा किया गया है। घटनाक्रम के बारे में जितने भी वीडियो मिले हैं, उनसे बहुत सारी बातें स्पष्ट होती हैं। उन्होंने आगे कहा कि, कुछ और भी बातों की फीडबैक मिली है, जिससे कई चीजें स्पष्ट हो रही हैं। उनकी भी जांच की जा रही है। इस घटना के बाद पुलिस महकमा पूरी तरह से सजग है। इस घटना के बाद से कानून व्यवस्था पर सवाल उठना लाजिमी है। गृह मंत्री होने के बाद भी मैं इस बात को कह रहा हूं। प्रदेश के पूरे जिलों में स्टैंडर्ड पुलिसिंग होना चाहिए और इस पर काम हो रहा है। शीघ्र ही इसे सभी जिलों में लागू कर दिया जाएगा। 

कांग्रेस डेलिगेशन पहुंचा बलौदाबाजार 

बलौदाबाजार में हुई हिंसा के बाद इस पर सियासत तेज हो गई है। शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष चरण दास महंत, के साथ कांग्रेस पार्टी के सभी 30 विधायक और नेतागण सैकड़ों गाड़ियों के काफिले के साथ बलौदाबाजार पहुंचे हैं। यहां पहुंचते ही कांग्रेस के डेलिगेशन ने सबसे पहले कलेक्ट्रेट परिसर और एसपी कार्यालय को देखा। 

बघेल बोले- एसपी और कलेक्टर पीछे के दरवाजे से भागे 

बलौदाबाजार रवाना होने से पहले रायपुर में मीडिया से बात करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि, सरकार की नाकामी की वजह से कलेक्टर और एसपी कार्यालय को जला दिया गया है। दोनों कार्यालय धू-धूकर जल गए और एसपी-कलेक्टर पीछे के दरवाजे से भाग गए। हमारे समस्त विधायक बलौदाबाजार जा रहे हैं और हम मामले की जांच करेंगे। इसके बाद पार्टी को रिपोर्ट सौंपेंगे। यह छत्तीसगढ़ नहीं, बल्कि पूरे देश का सबसे बड़ा मामला है। जहां कलेक्टर और एसपी कार्यालय को फूंक दिया गया है। 

नाकामी छुपाने बना रहे जांच समिति : बघेल

पूर्व सीएम श्री बघेल ने कहा कि, यह सरकार की सबसे बड़ी नाकामी है। इतना सब होने के बाद भी ये अनर्गल बातचीत कर रहे हैं। कांग्रेस के बाद भाजपा की जांच समिति गठन होने को लेकर, सरकार को इस तरह की टीम का गठन पहले ही कर लेना चाहिए था। यह सरकार की सबसे बड़ी नाकामी है और अब अपनी नाकामी छुपाने के लिए समिति का गठन कर रहे हैं।

jindal steel Haryana Ad hbm ad
5379487