Logo
election banner
संसदीय निर्वाचन क्षेत्र 6-राजनांदगांव के लिए आज 3 अप्रैल को जिला कार्यालय में कुल 8 नामांकन प्राप्त लिए गए। कुल 210 अभ्यर्थियों ने कलेक्टोरेट पहुँचकर नाम निर्देशन पत्र लिया। अब तक कुल 241 नाम निर्देशन पत्र अब तक लिए गए हैं।

राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव लोकसभा सीट पर कांग्रेस से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रत्याशी बनने के बाद इस सीट पर मुकाबला रोमांचक नजर आने लगा है। प्रदेश की निगाह इसी सीट पर टिकी हुई है। इसी बीच आज नामांकन दाखिले के अंतिम दिन से एक दिन पहले इस सीट से बड़े पैमाने पर लोगों ने अपनी दावेदारी करते हुए सर्वाधिक फॉर्म लेकर प्रदेश में इस लोक सभा सीट को चर्चा में ला दिया है। 

छत्तीसगढ़ प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी भूपेश बघेल ने पाटन क्षेत्र में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए निष्पक्ष चुनाव के लिए बैलेट पेपर से चुनाव की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि, अगर बैलेट पेपर से चुनाव चाहिए तो 375 प्रत्याशी का आंकड़ा पार करना होगा। तब ईवीएम के स्थान पर बैलेट पेपर से चुनाव होंगे। भूपेश बघेल की इस बात का राजनांदगांव लोकसभा सीट पर व्यापक असर दिखाई दिया।

हर ब्लाक से 50-60 लोग पहुंचे फार्म खरीदने

आज नामांकन दाखिले की अंतिम तिथि 4 अप्रैल से पूर्व कलेक्टर कार्यालय में नाम निर्देशन पत्र लेने वालों का रेला नजर आया। यहां राजनांदगांव लोकसभा सीट के सभी ब्लॉकों से बड़े पैमाने पर लोग 50-60 की संख्या में नामांकन फार्म लेने पहुंचे। लोग फार्म लेने लाइन लगाकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। इनमें से कई लोग ऐसे थे, जो एक ही गांव और मोहल्ले से थे। इनमें ज्यादातर संख्या महिलाओं की नजर आई। 

women1

अतरिया से 8 महिलाएं लड़ना चाहती हैं चुनाव 

नामांकन फार्म लेने पहुंची महिलाओं ने कहा कि, बैलेट पेपर से चुनाव होना चाहिए। खैरागढ़ जिले के अतरिया से पहुंची एक महिला ने कहा कि, हम 8 लोग एक साथ आये हैं। हम लोकसभा चुनाव लड़ना चुनाव लड़ना चाहते हैं। महिलाओं ने कहा कि वे स्वेच्छा से चुनाव लड़ना चाहती हैं। वहीं उन्होंने 375 प्रत्याशी वाले मामले में कहा कि भूपेश बघेल जो कह रहे हैं सहीं कह रहे हैं।

दर्जनों लोगों ने कांग्रेस पार्टी के नाम पर लिया फार्म

बड़े पैमाने पर राजनांदगांव लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के लिए दर्जनों लोग एक के बाद एक कलेक्टोरेट कार्यालय पहुंचते रहे और निर्धारित समय दोपहर 3:00 बजे तक इस सीट से 210 लोगों ने नामांकन फॉर्म ले लिया। इनमें दर्जनों लोगों ने कांग्रेस पार्टी के नाम से फार्म लिया। बडी़ संख्या में लोगों के द्वारा फार्म लेने के मामले में कांग्रेस प्रवक्ता रूपेश दुबे ने कहा कि समय-समय पर ईवीएम की विश्वसनीयता पर प्रश्न चिन्ह लगता है। आज जनता इस प्रक्रिया में अब खुद शामिल हो रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नाम से फार्म लेने से कुछ नहीं होगा। पार्टी जिसे अधिकृत करती है वही मान्य होता है। 

women2

13 नाम निर्देशन पत्र दाखिल हो चुके

आज सर्वाधिक लोगों के द्वारा राजनांदगांव लोकसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जताई गई है। जिसपर राजनांदगांव कलेक्टर संजय अग्रवाल ने कहा है कि आज काफी लोगों ने नामांकन फार्म लिया है। इससे पहले 31 लोगों ने लिया था। अब तक 13 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किया है।

450 नाम निर्देशन पत्र लिए जाने की तैयारी 

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की बात का अनुसरण करते हुए राजनांदगांव लोकसभा सीट से लगभग 450 लोगों द्वारा नाम निर्देशन पत्र लिए जाने की तैयारी यहां दिखाई दे रही है। आज 210 लोगों ने नामांकन फार्म लिया है। वहीं लगभग ढाई सौ लोगों के द्वारा नामांकन दाखिले की अंतिम दिन नाम निर्देशन पत्र दाखिल किए जाने की तैयारी की चर्चा इस सीट पर बनी हुई है। ऐसे में लगभग 450 लोग अगर इस सीट पर अपना नामांकन दाखिल करते हैं, तो यहां बैलेट पेपर से चुनाव हो सकते हैं। अब देखना यह है कि नामांकन दाखिले के अंतिम दिन कुल कितने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किए जाते हैं और नाम वापसी तक कितने लोग इस चुनाव मैदान पर डटे रहते हैं।

5379487