Logo
बलौदाबाजार हिंसा मामले में सीबीआई जांच की मांग को लेकर रायपुर पूर्व विधायक विकास उपाध्याय कलेक्टर को ज्ञापन सौंपने पहुंचे। लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया। 

कुश अग्रवाल-बलौदाबाजार। बलौदाबाजार में हुई आगजनी और तोड़फोड़ की सीबीआई जांच की मांग को लेकर रायपुर पूर्व विधायक विकास उपाध्याय बलौदाबाजार पहुंचे। वहां पर उन्होंने अपने मुंह पर काली पट्टी बांधकर ज्ञापन सौंपने कलेक्ट्रेट कार्यालय जाने के लिए निकले। 

बलौदाबाजार हिंसा के मामले में सीबीआई जांच की मांग को लेकर रायपुर पूर्व विधायक विकास उपाध्याय बलौदाबाजार पहुंचे। जब वे अपने मुंह पर काली पट्टी बांधकर ज्ञापन सौंपने कलेक्ट्रेट कार्यालय की ओर बढ़े जिला कांग्रेस कार्यालय बलौदाबाजार के बाहर ही पुलिस ने उन्हें रोक लिया और आगे जाने नहीं दिया। धारा 144 का हवाला देकर पुलिस ने सभी को वापस लौटा दिया। इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शैलेश नितिन त्रिवेदी, सुरेंद्र शर्मा जिला अध्यक्ष हीतेंद्र ठाकुर सहित कांग्रेस के कई कार्यकर्ता और नेता मौजूद रहे। 

भूपेश बघेल ने राज्य सरकार पर साधा निशाना 

इधर बलौदाबाजार मामले को लेकर भूपेश बघेल प्रदर्शन में शामिल हुए। उन्होंने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, बीजेपी सरकार कांग्रेस नेताओं पर झूठे आरोप लगा रही है। कांग्रेस के किसी नेता ने कोई भाषण नहीं दिया था। बलौदाबाजार हिंसा में कलेक्टर, एसपी शामिल रहे। 

घटना के लिए बीजेपी नेता ही जिम्मेदार – भूपेश 

भूपेश बघेल ने कहा कि, बीजेपी सरकार निर्दोष लोगों को गिरफ्तार कर रही है। हमारी मांग है कि, दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो। राज्य सरकार ने दंगे फैलाने की कोशिश की है। इस घटना के लिए बीजेपी नेता ही जिम्मेदार हैं। 

घटना के बाद से ही पुलिस घर-घर घुसकर लोगों को मार रही है- भूपेश बघेल 

भूपेश बघेल ने कहा कि, पुलिस ने जिन तीन मजदूरों को पकड़ा है वे बीजेपी से जुड़े ठेकेदार के लोग हैं। उनका आरोप है कि, घटना के बाद से ही पुलिस घर-घर घुसकर लोगों को मार रही है।

jindal steel hbm ad
5379487