Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

World Vision Day 2020: अंधेपन की जागरूगकता के लिए साल 2000 में लायन्स क्लब ने की थी इसकी शुरुआत

World Vision Day 2020: यह हर साल अक्टूबर माह के दूसरे गुरुवार को मनाया जाता है। इस दिन को दृष्टि हानि, अंधापन और अन्य दृष्टि संबंधी समस्याओं के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय दृष्टि दिवस नेत्र स्वास्थ्य कैलेंडर पर एक महत्वपूर्ण संचार और वकालत का समर्थन करता है।

World Vision Day 2020: अंधेपन की जागरूगकता के लिए साल 2000 में लायन्स क्लब ने की थी शुरुआत
X
विश्व दृष्टि दिवस

दुनिया में कुछ ऐसी बीमारी के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस को मनाया जाता है। जिससे हर कोई उसके बारे में जान सके। इसमें से एक है अंतर्राष्ट्रीय दृष्टि दिवस एक है। इन बीमारियों में अंधेपन को सबसे ऊपर रखा गया, क्योंकि पुरी दुनिया में 39 मिलियन लोग अंधे हैं। जिसकी तरफ कोई ध्यान नहीं देता और इसलिए लायन्स क्लब इंटरनेशनल फाउंडेशन ने वर्ष 2000 में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अनैतिकता की रोकथाम के लिए अंतर्राष्ट्रीय एजेंसी के सहयोग से इस दिन को चिह्नित किया था।

यह हर साल अक्टूबर माह के दूसरे गुरुवार को मनाया जाता है। इस दिन को दृष्टि हानि, अंधापन और अन्य दृष्टि संबंधी समस्याओं के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय दृष्टि दिवस नेत्र स्वास्थ्य कैलेंडर पर एक महत्वपूर्ण संचार और वकालत का समर्थन करता है। यह दिन दृष्टि हानि और अंधेपन पर ध्यान खींचने पर केंद्रित है। हालांकि अंधेपन के अलावा भी कई बीमारियों को इस दिन शामिल किया गया जैसे ट्रैकोमा, कम दृष्टि, मोतियाबिंद, ग्लूकोमा, अपवर्तक त्रुटि और मधुमेह रेटिनोपैथी आदि। लेकिन सबसे ज्यादा जोर आंखों की समस्या को देखते हुये इस दिन को मनाया गया।

डब्ल्यूएचओ ने दृष्टि से पीड़ित लोगों के जीवन में सुधार उठाये कदम

विज़न 2020 दृष्टि का अधिकार के तहत इंटरनेशनल एजेंसी फॉर प्रिवेंशन ऑफ़ ब्लाइंडनेस (आईपीएबी) और विश्व स्वास्थ्य संगठन ( डब्ल्यूएचओ) ने दृष्टि से पीड़ित लोगों के जीवन में सुधार कैसे लाया जाएं इनके लिए क्या-क्या किया जाना चाहिए इसको रेखांकित करने के लिए इस कार्यक्रम को आयोजित किया है। विज़न 2020 की स्थापना वर्तमान में ग्लोबल एक्शन प्लान के तहत ऐसे लोगों तक सुविधाये पहुंचाने की कोशिश की जा रही है जो लोग इनसे अभिज्ञय है।

लोगों को दी जा रही जानकारी

आंखों की छोटी-छोटी समस्याएं की अनदेखी नहीं करनी चाहिए क्योंकि बाद में यहीं छोटी-छोटी समस्या इतनी बड़ी समस्या बन जाती है। इसलिए आंखों में कोई दिक्कत आने से पहले ही तुरंत उसका उपचार कर लेना चाहिए। क्योंकि आंख मानव शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है और इसके लिए जागरूगकता बेहद जरूरी है। जिससे आने वाले समय में इन समस्याओं से लोगों को बचाया जा सके।

Next Story