Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया भारत में कैसे फैली कोरोना की दूसरी लहर, आखिर कौन है जिम्मेदार

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि भारत में कोरोना बढ़ने के पीछे कई संभावित वजह हैं। जिसकी वजह से इसका प्रसार हुआ है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया भारत में कैसे फैली कोरोना की दूसरी लहर, आखिर कौन है जिम्मेदार
X

भारत में कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप अभी जारी है और इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एक रिपोर्ट जारी की है। जिसमें उन्होंने बताया कि किस तरह से भारत में कोरोना की दूसरी लहर फैली है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि भारत में कोरोना बढ़ने के पीछे कई संभावित वजह हैं। जिसकी वजह से इसका प्रसार हुआ है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, डब्ल्यूएचओ ने भारत में किसी भी कार्यक्रम का नाम तो नहीं लिया है। लेकिन उसने कहा कि कई धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रम भी कोरोना के प्रसार को बढ़ाने में मददगार होते हैं। कार्यक्रम में भारी भीड़ जुटना भी संक्रमण बढ़ने की वजह होती है। ऐसे में कोरोना बढ़ने में इन एक्टर्स की अहम भूमिका रही। इस बारे में स्थिति अभी साफ नहीं है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि भारत में कोरोना का नया वेरिएंट पहली बार साल 2020 में मिला था। जब यहां कोरोना के मामलों और मौतों में दोबारा बढ़ोतरी हुई। तो कुछ दूसरे नए तरह के वेरिएंट सामने आए। डब्ल्यूएचओ ने जानकारी देते हुए बताया कि भारत के कोरोना पॉजिटिव सैंपल्स में से 0.1 फीसदी को ग्लोबल इनिशिएटिव ऑन शेयरिंग ऑल इन्फ्लूएन्जा डेटा (GISAID) पर सीक्वेंस किया गया था। ताकि कोरोना वैरिएंट्स का पता लगाया जा सके। इसमें सामने आया कि B.1.1.7 और B.1.612 जैसे कई वैरिएंट्स की वजह से भारत में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी हुई।

B.1.617 वैरिएंट की ग्रोथ ज्यादा

डब्ल्यूएचओ ने जानकारी देते हुए बताया कि अप्रैल के आखिरी तक भारत में कोरोना के 21 फीसदी इस नए वेरिएंट थे और 7 फीसदी से अधिक केस पिछली बार के वेरिएंट के थे। ऐसे में यह वेरिएंट पहले के मुकाबले काफी स्ट्रांग है और भारत के बाद B.1.617 के सबसे ज्यादा मामले ब्रिटेन में आए हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया में जितने भी संक्रमण के मामले सामने आए हैं। उनमें नए मामलों और मौत के आंकड़ों में 50 फीसदी मामले भारत से मिले हैं। दुनिया के 50 फीसदी मामले भारत से निकल कर सामने आए हैं। जिसके बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया को भारत के नए वायरस की चेतावनी भी जारी कर दी थी।

Next Story