Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रॉ से सेवानिवृत अधिकारी क्यों मांग रहे हैं राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु!

रॉ जैसी खुफिया संस्थानों में जीवन खपाने वाले सचिव स्तर के अधिकारी सेवानिवृत एस.सी कुमार ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई है!

रॉ से सेवानिवृत अधिकारी क्यों मांग रहे हैं राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु!
X
रॉ से सेवानिवृत अधिकारी ने मांगी इच्छा मृत्यु

आखिर ऐसी क्या कौन सी घटना हो गई जिससे उद्वेलित होकर रॉ जैसी खुफिया संस्थानों में जीवन खपाने वाले सचिव स्तर के अधिकारी सेवानिवृत एस.सी कुमार ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई है! अस्सी साल के वृद्ध एस.सी. कुमार ने इस संबंध में बताया कि वे अभी गुरुग्राम स्थित पालम विहार के पार्क-व्यू रेसिडेन्ट्स वेल्फेयर के अध्यक्ष हैं। वहां के आठ टावरों में कुल 680 फ्लैट्स हैं। पार्क-व्यू गुरुग्राम सबसे बेहतरीन आवासीय समूह का खिताब कई बार जीत चुका है।

बिना वजह मुझे हर रोज शर्मसार न होना पड़े

मगर, वहां पिछले दो सालों से एक राजनेता के प्रभाव में आकर तमाम तरह से आरडबलूए को परेशान किया जाने लगा। कारण- सिर्फ आरडब्लूए पर अपने लोगों को बिठाकर मनमर्जी चलाने का है। उक्त राजनेता का प्रभाव हरियाणा सरकार पर इतना है कि न पुलिस सुनवाई करती है, और न ही शासन-प्रशासन। और तो और राज्य शासन से गफलत में डालकर, गलत जानकारियां देकर येनकेन प्राकरेण मौजूदा आरडबलूए को भंग करने की पुरजोर कोशिश जा रही है। चारों तरफ से फरियाद मांगने के बाद जब लगने लगा कि कहीं सुनवाई नहीं हो रही, इस भागादौड़र का कोई अंजाम नहीं निकल रहा तो अंतिम में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु का निवेदन किया है ताकि वर्षों रॉ जैसी संस्थानों में राष्ट्रभक्ति से काम करने के बाद उम्र के इस पड़ाव पर बिना वजह मुझे हर रोज शर्मसार न होना पड़े!

कोई मामला दर्ज कराता हूं तो एफआईआर तक लिखने को राजी नहीं होते

एक सवाल के जवाब में पार्क-व्यू रेजिडेन्ट्स वेल्फेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष एस.सी. कुमार ने छूटते ही कहा, आप स्वयं हमारी सोसाइटी के आसपास हुए अतिक्रमण की जानकारी लेंगे तो आप पाएंगे सभी एक ही नेता द्वारा वहां गैरकानूनी अतिक्रमण करवाया गया है ताकि हर माह लाखों रुपए की गैर वाजिब उगाही की जा सके। बतौर स्थानीय नागरिक अगर हम अतिक्रमण का विरोध करें तो बदले में हमारी सोसाइटी में गुंडे-मवाली भेज कर हमें धमकाया जाता है। उनकी ओर से पालम विहार थाने में कोई रिपोर्ट दर्ज हो तो पुलिस तुरंत हरकत में आती है अगर बतौर आरडब्लूए अध्यक्ष मैं लिखित रूप में साक्ष्य सहित कोई मामला दर्ज कराता हूं तो एफआईआर तक लिखने को राजी नहीं होते। थाने को लिखा।

गत दो सालों से ज्यादातियां लगातर बढ़ती जा रही हैं

एसपी को शिकायत दी। मुख्यमंत्री को पत्र भेजे, लेकिन गत दो सालों से ज्यादातियां लगातर बढ़ती जा रही हैं। एकतरफा कार्रवाई हो रही है। उक्त नेता के गुंडों ने सोसाइटी की संभ्रांत महिलाओं का रहना दूभर कर रखा है। मैंने पिछले कार्यकाल में कई बार मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिलकर बात करने की कोशिश की मगर सफल नहीं हो सका। मैं मीडिया के माध्यम से फिर गुजारिश करूंगा कि मुख्यमंत्री मेरी इच्छा मृत्यु से पहले जरूर गुरुग्राम स्थित पार्क-व्यू रेजिडेन्ट्स वेलफेयर एसोसिएशन की शिकायतों बैठकर सुनें। गौर फरमाएं।

सब्र छलक रहा है

हम सब उनको मिलकर बताएंगे कि कैसे स्थानीय एक नेता के प्रभाव में आकर एसडीएम रैंक का अधिकारी अपने नाम से आरडबलूए के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराते हैं, स्वतंत्र भारत के इतिहास में ऐसी पहली घटना होगा जहां बिना वजह एक अधिकारी अपने पद का दुरुपयोग गैरकानूनी एफआईआर के लिए करते हैं। एक दूसरे के सवाल के जवाब में रॉ से रिटायर आरडब्लूए अध्यक्ष एस.सी. कुमार ने बताया कि आरडब्लूए पर कब्जे के लिए उक्त नेता के दबाव में इंडस्ट्रीज विभाग ने हमारे सोसाइटी की हर तरह की जांच पडताल कर ली, हमारे एकाउंट्स की ऑडिट देखी गई।

चुनाव के तौर-तरीकों की जांच की गई। हर जगह जब हमारी सोसाइटी ठीक निकली तो अब विभाग के उच्च अधिकारियों से मिलकर लोकतांत्रिक तरीके से चुनी गई आरडबलूए को जबरिया भंग करने की कोशिश की जा रही है, लेकिन हम सब मिलकर ऐसे तत्वों से लगातर मुकाबला कर रहे है, मगर अब सब्र छलक रहा है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story