Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महाराष्ट्रः लातूर जिले में पानी की किल्लत से लोगों में हाहाकार, 15 दिन में आता है सरकारी पानी का टैंकर

तेज गर्मी के बीच महाराष्ट्र के लातूर जिले में पानी की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। यहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि सरकारी पानी के टैंकर पंद्रह दिन में केवल एक बार आता है। हमें केवल 250 लीटर पानी मिलता है। हमारे पास पीने के लिए अलग पानी नहीं है। फसलें उगाने और रोजगार का कोई दूसरा साधन नहीं है।

महाराष्ट्रः लातूर जिले में पानी की किल्लत से लोगों में हाहाकार, 15 दिन में आता है सरकारी पानी का टैंकर
X

तेज गर्मी के बीच महाराष्ट्र के लातूर जिले में पानी की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। यहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि सरकारी पानी के टैंकर पंद्रह दिन में केवल एक बार आता है। हमें केवल 250 लीटर पानी मिलता है। हमारे पास पीने के लिए अलग पानी नहीं है। फसलें उगाने और रोजगार का कोई दूसरा साधन नहीं है।


एकरा गांव के सरपंच दिनकर भगवान इंगले कहते हैं कि प्रशासन हर 15 दिनों में पानी उपलब्ध कराता है जो कि पर्याप्त नहीं है। फिर भी वे हमें दूसरे टैंकर मुहैया नहीं कराते हैं। हर महीने एक परिवार को केवल 250 लीटर पानी उपलब्ध कराया जाता है।

वे आगे कहते हैं कि यह कहर यहीं खत्म नहीं होता। गांवों को दिया जाने वाला पानी पीने योग्य नहीं है। जो पानी उपलब्ध कराया जा रहा है वह पीने के लिए नहीं है। हमें अलग से पानी खरीदना होगा। अब स्थिति इतनी खराब हो गई है कि पीने योग्य पानी खरीदना भी मुश्किल है।

एक अन्य ग्रामीण ने कहा कि पानी की कमी के कारण हम फसलें नहीं उगा सकते हैं और हमारे पास रोजगार का दूसरा साधन भी नहीं है। बता दें कि साल 2016 में भारतीय रेलवे ने लातूर के सूखाग्रस्त इलाके में पानी की दो ट्रेनों की व्यवस्ता की थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story