Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जब साल 2011 में तिहरे बम धमाकों से दहल उठी थी मुंबई, देखें दिल दहला देने वाली तस्वीरें

13 जुलाई 2011 को मुंबई में तीन धमाकों से पूरा देश हिल गया था। यह सीरियल बम ब्लास्ट थे।

जब साल 2011 में तिहरे बम धमाकों से दहल उठी थी मुंबई, देखें दिल दहला देने वाली तस्वीरें
X

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में बम धमाकों का सिलसिला हमेशा से जारी रहा है। मुंबई 2008 के बम धमाकों और 2011 के तीन बम धमाकों ने देश की आर्थिक राजधानी को हिला कर रख दिया था। लेकिन आज भी मुंबई के लोग बेफिक्र होकर अपना काम करते हैं।

आज ही के दिन 13 जुलाई 2011 को मुंबई में तीन धमाकों से पूरा देश हिल गया था। यह सीरियल बम ब्लास्ट थे। जो 2008 बम धमाकों के 4 साल बाद मुंबई को फिर से डराने की कोशिश की गई थी। 13 जुलाई को कसाब का जन्मदिन था और इस मौके पर आतंकवादियों ने 2008 के मुंबई बम धमाकों में पकड़े गए कसाब के लिए सीरियल बम ब्लास्ट किए थे।


इन धमाकों की जिम्मेदारी इंडियन मुजाहिदीन ने ली थी।लगातार आतंकी संगठन मुंबई को निशाना बनाते रहे हैं।।माना जाता है कि 13 जुलाई को अजमल कसाब का जन्मदिन था। तो वहीं दूसरी तरफ 28 के मुंबई बम धमाकों में उसे फांसी की सजा दी गई थी। जिसको देखते हुए इंडियन मुजाहिद्दीन के आकाओं ने अपने इस बहादुर सिपाही को इनाम में मुंबई में तीन लगातार बम धमाके किए थे। जिसके अंदर 31 लोगों की मौत हो गई थी।


इन बम धमाकों का प्रमुख यासीन भटकल था। पूरा प्लान आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन के फाउंडर यासीन भटकल ने कराए थे। उस दिन मुंबई के लोग दिनभर के कामकाज के बाद अपने घर जा रहे थे। लेकिन सिर्फ पांच मिनट के अंदर शहर के तीन सबसे व्यस्त इलाकों झवेरी बाजार, दादर और ओपेरा हाउस में तीन बम धमाके हुए थे।

इंडियन मुजाहिदीन ने पूरी प्लानिंग के साथ 13 जुलाई 2011 की शाम को 5 मिनट के अंदर मुंबई के 3 इलाकों में सीरियल बम ब्लास्ट किए थे। शाम 6:45, 6:55 और 7 बजे यह तीन टाइम फिक्स किए गए थे। इसके बाद पूरे जांच के दौरान 18 राज्यों में धमाकों के सुराग की तलाश की गई और लगातार 29 दिनों तक तकरीबन 1 सौ 80 घंटे के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया। आज दिन बम धमाकों की जांच चल रही है।

इसी दौरान इसके 4 साल बाद ही साल 2011 में अजमल कसाब को यूपीए सरकार के दौरान प्रणब मुखर्जी के राष्ट्रपति रहते हुए फांसी दे दी गई।

Next Story