Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आज से खुलेगा करतापुर कॉरिडोर, Guru Nanak Dev की Anniversary पर तीर्थयात्री कर सकेंगे दर्शन

मोदी सरकार बुधवार से करतारपुर साहिब गुरुद्वारा कॉरिडोर ( Kartarpur Sahib Gurdwara corridor) को फिर से खोलने की घोषणा की। मोदी सरकार ने यह फैसला गुरु नानक देव की जयंती (Guru Nanak Dev Anniversary) से ठीक पहले लिया है।

आज से खुलेगा करतापुर कॉरिडोर, गुरु नानक देव जयंती तीर्थ यात्री कर सकेंगे दर्शन
X

आज से खुलेगा करतापुर कॉरिडोर, गुरु नानक देव जयंती तीर्थ यात्री कर सकेंगे दर्शन 

मोदी सरकार बुधवार से करतारपुर साहिब गुरुद्वारा कॉरिडोर (Kartarpur Sahib Gurdwara Corridor) को फिर से खोलने की घोषणा की। केंद्र सरकार ने यह फैसला गुरु नानक देव की जयंती से ठीक पहले लिया है। गृहमंत्री अमित शाह, पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सरकार के इस स्वागत किया है।

अमित शाह (Amit Shah) देश में खुशी बढ़ेगी।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा - ''राष्ट्र 19 नवंबर को श्री गुरु नानक देव-जी के प्रकाश उत्सव को मनाने के लिए पूरी तरह तैयार है और मुझे यकीन है कि नरेंद्र मोदी सरकार के करतारपुर साहिब कॉरिडोर को फिर से खोलने के फैसले से पूरे देश में खुशी और खुशी बढ़ेगी।''

पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने किया स्वागत

पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने अपने ट्वीट में लिखा- ' मैं श्री गुरु नानक देव जी के 552वें प्रकाश पर्व के शुभ अवसर पर श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर को फिर से खोलने के निर्णय का हार्दिक स्वागत करता हूं। इस प्रशंसनीय कदम ने उन लाखों भक्तों की आकांक्षाओं को पूरा किया है जो कोरोना महामारी की वजह से 'दर्शन दीदार' से वंचित हैं।''

नवजोत सिंह सिद्धू ने दी प्रतिक्रिया

नवजोत सिंह सिद्धू ने लिखा- ''स्वागत योग्य कदम.... अनंत संभावनाओं के गलियारे का फिर से खुलना…नानक नाम लेवास के लिए अमूल्य उपहार… महान गुरु का गलियारा सभी पर आशीर्वाद बरसाने के लिए हमेशा खुला रहे…. सरबत दा भला''


18 नवंबर को रवाना होगा पहला जत्था

18 नवंबर से 250 तीर्थयात्रियों का एक जत्था करतारपुर गुरुद्वारे में जा सकता है।


बिना विजा के जा सकते हैं तीर्थयात्री

बता दें कि करतारपुर कॉरिडोर, जिसे भारत और पाकिस्तान के बीच "शांति गलियारा" कहा जाता है। यहां नवंबर 2019 और फरवरी 2020 के बीच लगभग 45,000 तीर्थयात्रियों को यात्रा करते हैं। यहां सिख तीर्थयात्रियों को बिना विजा के यात्रा करने की अनुमति है।

Next Story