Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पीएम मोदी बोले- करतापुर के कण-कण में गुरुनानक देवजी के पसीने की महक मिली है

डेरा बाबा नानक कार्यक्रम में पीएम मोदी ने सिख समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि गुरुनानक देव के 550वें प्रकाश पर्व से पहले करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन होना बहुत खुशी की बात है।

पीएम मोदी बोले- देश को करतारपुर कॉरिडोर समर्पित करना मेरा सौभाग्यप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Kartarpur Corridor Inauguration : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 550वें प्रकाश पर्व से पहले करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन कर दिया है। इस मौके पर गुरदासपुर के बीजेपी सांसद सनी देओल, केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल के अलावा अन्य नेता भी डेरा बाबा नानक में मौजूद थे। पीएम मोदी ने पाकिस्तान को भारत से पहला 550 तार्थयात्रियों का जत्था भी रवाना किया।

डेरा बाबा नानक कार्यक्रम में पीएम मोदी ने सिख समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि गुरुनानक देव के 550वें प्रकाश पर्व से पहले करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन होना बहुत खुशी की बात है।

सिख भाई-बहनों को पीएम मोदी ने दी बधाई

आज इस पवित्र धरती पर आकर मैं धन्यता का अनुभव कर रहा हूं। मेरा सौभाग्य है कि मैं आज देश को करतारपुर साहब कॉरिडोर समर्पित कर रहा हूं। मैं आप सभी को, देश और दुनिया में बसे सभी सिख भाई-बहनों को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के अवसर पर हार्दिक बधाई देता हूं।

इस कॉरिडोर के बनने के बाद अब गुरुद्वारा दरबार साहब के दर्शन आसान हो जाएंगे। मैं पंजाब सरकार का, शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का इस कॉरिडोर को तय समय में बनाने वाले हर श्रमिक साथी का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं।

नानक देव जी पूरी मानवता के लिए प्रेरणा पुंज हैं

गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश-उत्सव से पहले, इंटीग्रेटेड चेकपोस्ट, करतारपुर साहिब कॉरिडोर का खुलना, हम सभी के लिए दोहरी खुशी लेकर आया है। गुरु नानक देव जी, सिर्फ सिख पंथ की, भारत की ही धरोहर नहीं, बल्कि पूरी मानवता के लिए प्रेरणा पुंज हैं।

करतापुर के कण-कण में गुरुनानक देवजी के पसीने की महक मिली है

अपनी यात्राओं का मकसद, गुरु नानक देव जी ने ही बताया था- बाबे आखिआ, नाथ जी, सचु चंद्रमा कूडु अंधारा!! कूडु अमावसि बरतिआ, हउं भालण चढिया संसारा!! पीएम मोदी ने आगे कहा कि करतारपुर केवल गुरुनानक देवजी की कर्मभूमि नहीं है बल्कि करतापुर के कण-कण में गुरुनानक देवजी के पसीने की महक मिली हुई है। उसकी वायु में उनकी वाणी घुली हुई है।

धन तो आता जाता रहेगा पर सच्चे मूल्य हमेशा रहते हैं

कहते हैं शब्द हमेशा ऊर्जा बनकर वातावरण में विद्यमान रहते हैं। करतारपुर से मिली गुरुवाणी की ऊर्जा, सिर्फ हमारे सिख भाई-बहनों को ही नहीं बल्कि हर भारतवासी को अपना आशीर्वाद देगी। गरुनानक देवजी ने सीख दी है कि सच्चाई और ईमानदारी से किए गए विकास से हमेशा तरक्की और समृद्धि के रास्ते खुलते हैं। गरुनानक देवजी ने सीख दी है कि धन तो आता जाता रहेगा पर सच्चे मूल्य हमेशा रहते हैं।

केंद्र सरकार ने लिया महत्वपूर्ण फैसला

बीते एक साल से देश और विदेश में कीर्तन, कथा, प्रभात फेरी, लंगर, जैसे आयोजनों के माध्यम से गुरु नानक देव की सीख का प्रचार किया जा रहा है। इससे पहले गुरु गोबिंद सिंह जी के 350वें प्रकाशोत्सव को भी इसी तरह भव्यता के साथ पूरी दुनिया में मनाया गया था। केंद्र सरकार ने एक और महत्वपूर्ण फैसला लिया है, जिसका लाभ दुनियाभर में बसे अनेक सिख परिवारों को हुआ है। कई सालों से, कुछ लोगों को भारत में आने पर जो दिक्कत थी, अब उन दिक्कतों को दूर कर दिया गया है।

भारत की एकता, भारत की रक्षा-सुरक्षा से लेकर, गुरुनानक देवजी से गुरु गोविंद जी तब हर गुरु साहब ने निरंतर प्रयास किए हैं, अनेक बलिदान दिए हैं। इसी परंपरा को आजादी की लड़ाई और आजाद भारत की रक्षा में सिख साथियों ने पूरी शक्ति से निभाया है।

हमारी गुरु परंपरा, संत परंपरा, ऋषि परंपरा, ने अलग-अलग कालखंड में, अपने-अपने हिसाब से चुनौतियों से निपटने के रास्ते सुझाए हैं। उनके रास्ते जितने तब सार्थक थे, उतने ही आज भी अहम हैं। राष्ट्रीय एकता और राष्ट्रीय चेतना के प्रति हर संत, हर गुरु का आग्रह रहा है।

Next Story
Share it
Top