Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आईआरसीटीसी से टिकट बुकिंग में होगा बदलाव, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का होगा इस्तेमाल

रेलवे की अधिकारिक आनलाइन टिकिट बुकिंग वेबसाइट आईआरसीटीसी में बड़ा बदलाव किया जा रहा है। इससे आईआरसीटीसी की वेबसाइट और ऐप के जरिए टिकिट बुकिंग करने वालों को नया अनुभव मिलेगा।

कोरोना वायरस काल में रेलवे ने आय से पैसा यात्रियों को रिफंड किया
X
भारतीय रेलवे (प्रतीकात्मक फोटो)

रेलवे की अधिकारिक आनलाइन टिकिट बुकिंग वेबसाइट आईआरसीटीसी में बड़ा बदलाव किया जा रहा है। इससे आईआरसीटीसी की वेबसाइट और ऐप के जरिए टिकिट बुकिंग करने वालों को नया अनुभव मिलेगा। जानकारी के अनुसार आईआरसीटीसी टिकिट बुकिंग सिस्टम में अगले माह यानि अगस्त में यह बदलाव होगा, जिससे यात्रियों को ज्यादा से ज्यादा कंफर्म टिकिट उपलब्ध हो सकेगा।

इसके जरिए टिकिट बुकिंग करने वालों के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एआई सिस्टम का उपयोग किया जाएगा। इस टेक्निकल अपग्रेड के बाद आईआरसीटीसी के जरिए टिकिट की बुकिंग आसान होगी, बल्कि यात्रियों को कंफर्म टिकिट मिलने की संभावना भी बढ़ जाएगी।

रेलवे बोर्ड और आईआरसीटीसी के अनुसार नए टिकिटिंग सिस्टम को अगले माह रोल आउट किया जाएगा। इस नए बदलाव के बाद से यात्रियों को बेहतरीन सर्विस उपलब्ध होगी। इसके साथ ही नए फीचर को रोल आउट करने से यात्रियों को ट्रेन और टिकिट के बारे में पूरी जानकारी और भी बेहतर तरीके से मिल सकेगी।

चेकइन का नया तरीका

जानकारी के अनुसार रेल यात्रियों की सुविधा को भी अपग्रेड किया जा रहा है। जल्द ही प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर एयरपोर्ट की तरह सुविधा यात्रियों को मिलेगी। नए टिकिटिंग सिस्टम के जरिए टिकिट बुकिंग करने के बाद यात्री को एसएमएस के जरिए क्यूआर कोड का यूआरएल मिलेगा। यात्री को रेलवे स्टेशन में एंट्री करते समय इस कोड का उपयोग करके चेक इन करना होगा। इसा करने से बिचौलियों से निजात मिलेगी और यात्रियों को ज्यादा से ज्यादा कंफर्म टिकिट मिलने की संभावना बढ़ेगी।

क्यूआर कोड का उपयोग

आईआरसीटीसी की वेबसाइट में बदलाव के अलावा एयरपोर्ट की तरह रेलवे भी क्यूआर कोड वाले कांटैक्टलेस टिकिट देने की तैयारी कर रही है। इसे स्टेशन और ट्रेनों पर मोबाइल फोन से स्कैन किया जा सकेगा। बोर्ड के अनुसार वर्तमान में 85 फीसदी टिकिट आनलाइन होते हैं और काउंटर से टिकिट खरीदने वालों के लिए भी क्यूआर कोड की व्यवस्था की जाएगी। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लोग डिजिटल और कान्टैक्टलेस सुविधा का उपयोग अधिक कर रहे हैं। इसी दिशा में रेलवे ने पहल की है।

Next Story