Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmers Protest: प्रधानमंत्री के नया कृषि कानून वापस लेने पर भी धरने पर बैठे रहेंगे किसान, राकेश टिकैत ने प्रदर्शन खत्म न करने की बताई ये वजह

केंद्र की मोदी सरकार के तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के बावजूद किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत ने किसान आंदोलन जारी रखने का ऐलान किया है। राकेश टिकैत का कहना है कि संसद में तीन कृषि कानूनों को निरस्त नहीं किए जाने तक आंदोलन जारी रहेगा।

Farmers Protest: प्रधानमंत्री के नया कृषि कानून वापस लेने पर भी धरने पर बैठे रहेंगे किसान, राकेश टिकैत ने प्रदर्शन खत्म न करने की बताई ये वजह
X

केंद्र की मोदी सरकार (Modi government) के तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के बावजूद किसानों (Farmer) का आंदोलन जारी रहेगा। संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने किसान आंदोलन जारी रखने का ऐलान किया है। राकेश टिकैत का कहना है कि संसद में तीन कृषि कानूनों को निरस्त नहीं किए जाने तक आंदोलन जारी रहेगा। राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने स्पष्ट किया कि सरकार को किसानों के अन्य मुद्दों पर भी बात करनी चाहिए।

उन्होंने कहा आंदोलन तुरंत वापस नहीं लिया जाएगा, हम उस दिन का इंतजार करेंगे जब संसद में कृषि कानून निरस्त हो जाएंगे। सरकार को एमएसपी (MSP) के साथ-साथ किसानों के अन्य मुद्दों पर भी बात करनी चाहिए। इससे पहले गुरु पर्व के मौके पर मोदी सरकार ने किसानों की मांग के आगे झुकते हुए तीन कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया था। पीएम मोदी ने अपने भाषण में एमएसपी को मजबूत करने का जिक्र किया था, लेकिन इस बारे में कानून बनाने पर कोई स्पष्ट बात नहीं की।

किसान आंदोलन (farmers movement) का नेतृत्व करने वाले नेता हमेशा स्पष्ट रहे हैं कि उनका आंदोलन केवल तीन कृषि कानूनों (three agricultural laws) के खिलाफ नहीं है। किसान आंदोलन ने हमेशा एमएसपी को लेकर कानून बनाने की मांग को दोहराया है। इसके अलावा इसमें कृषि से जुड़े अन्य सुधारों का भी जिक्र है।

आपको बता दें कि पिछले साल मोदी सरकार (Modi government) ने तीन कृषि कानून लागू किए थे। पंजाब और हरियाणा के किसानों ने उनके विरोध में आंदोलन शुरू किया और एक साल तक दिल्ली के सिंघू और टिकरी सीमा पर आंदोलन को जारी रखा। किसानों ने फिलहाल सीमा पर ही रहने का फैसला किया है।

Next Story