Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

काशी में पीएम मोदी के दौरे को लेकर कांग्रेस का जोरदार तंज, ट्वीट कर लिखा- झूठ ना इतना बोलिए, कि बेशर्मी दिख जाए

कांग्रेस ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर जोरदार तंज कसा साथ ही वाराणसी में कई विकास पहलों की शुरुआत पर एक वीडियो क्लिप भी शेयर की।

काशी में पीएम मोदी के दौरे को लेकर कांग्रेस का जोरदार तंज, ट्वीट कर लिखा- झूठ ना इतना बोलिए, कि बेशर्मी दिख जाए
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हैं। इस दौरान उन्होंने वर्ल्ड स्किल डे के मौके पर लर्निग को अर्निग से जोड़ने की वकालत की और साथ ही स्किल डेवलपमेंट को आवश्यक बताया। इसके बाद कांग्रेस ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर जोरदार तंज कसा साथ ही वाराणसी में कई विकास पहलों की शुरुआत पर एक वीडियो क्लिप भी शेयर की।


कांग्रेस पार्टी ने ट्वीट कर लिखा कि झूठ ना इतना बोलिए, कि बेशर्मी दिख जाए। इतना झूठ भी न बोलिए, झूठ शर्म से मर जाए। कानून का राज यूपी ने हाल ही जिला पंचायत चुनावों में बखूबी देख लिया है और बेटियों को तो आधी रात को जिंदा जलाया है आपकी सरकार में। बाकी आपके गुंडों द्वारा सरेआम खींचती साड़ी भी इस देश ने देखी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व कौशल दिवस के अवसर पर सीखने को कमाने से जोड़ने की वकालत की। पीएम मोदी का कहना है कि आज के दौर में स्किल और स्किल डेवलपमेंट सबसे ज्यादा जरूरी है। उनका कहना है कि कोरोना के खिलाफ जो जंग लड़ी जा रही है। उसमें कौशल का बहुत बड़ा योगदान है।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि स्किलिंग के साथ-साथ री-स्किलिंग भी बहुत जरूरी है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज के दौर में तीन-चार साल में री-स्किलिंग की जरूरत है और हमें इसके लिए तैयार रहना चाहिए। पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले 6 साल में स्किल इंडिया के जरिए एक करोड़ 25 लाख लोगों को स्किल करने की बात भी कही।

पीएम मोदी आज वाराणसी के दौरे के दौरान सुबह साढ़े दस बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचे थे। उसके बाद वहां से सीधे बीएचयू स्थित कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। मोदी ने बटन दबा कर लोगों को 1475 करोड़ से ज्यादा का तोहफा दिया। इसके अलावा पीएम मोदी ने जापान और भारत के बीच दोस्ती के प्रतीक रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उद्घाटन किया है। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि काशी ही शिव है। अब जबकि पिछले 7 वर्षों में काशी को इतनी विकास परियोजनाओं से सजाया जा रहा है, तो रुद्राक्ष के बिना यह अलंकरण कैसे पूरा हो सकता है। अब जबकि काशी ने इस रुद्राक्ष को धारण कर लिया है, तो काशी का विकास और अधिक और काशी की शोभा और बढ़ जाएगी।

Next Story