Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम हिमंत बिस्वा सरमा के खिलाफ दर्ज एफआईआर हो सकती है वापस, जानें पूरा मामला

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बीते दिनों मिजोरम के कोलासिब जिले के वैरेनगटे शहर के बाहरी इलाके में हुई हिंसक झड़प हो गई थी।

सीएम हिमंत बिस्वा सरमा के खिलाफ दर्ज एफआईआर हो सकती है वापस, जानें पूरा मामला
X

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के खिलाफ मिजोरम पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। अब पुलिस उनके खिलाफ एफआईआर को वापस ले सकती है। मिजोरम के चीफ सेक्रेटरी ने कहा है कि असिम के सीएम के खिलाफ एफआईआर के बारे में मुख्यमंत्री जोरामथंगा को जानकारी नहीं थी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने उन्हें एस मामले को फिर से देखने के लिए कहा है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मिजोरम के चीफ सेक्रेटरी का कहना है कि मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के खिलाफ दर्ज एफआईआर के मामले को फिर से देखा जा रहा है। इस मामले की सीएम जोरामथंगा और उन्हें कतई जानकारी नहीं थी। अब अधिकारियों से बात की जाएगी। ऐसा माना जा रहा है कि मिजोरम सरकार असम सीएम के खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द कर सकती है। क्योंकि असम के सीएम ने चीफ सेक्रेटरी को एफआईआर रद्द करने का आदेश दे दिया है?

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बीते दिनों मिजोरम के कोलासिब जिले के वैरेनगटे शहर के बाहरी इलाके में हुई हिंसक झड़प हो गई थी। इसी हिंसा के संबंध में मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा, राज्य पुलिस के 4 वरिष्ठ अधिकारियों और 2 अन्य के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए गए थे। इनके अलावा असम पुलिस के 200 अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी केस दर्ज किया।

जानकारी के अनुसार, मिजोरम पुलिस महानिरीक्षक (मुख्यालय) जॉन नेहलिया के मुताबिक, हत्या की कोशिश और आपराधिक साजिश, समेत विभिन्न आरोपों के तहत मुख्यमंत्री और अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इस पर सीएम हिमंता ने कहा था कि वो किसी भी जांच के लिए तैयार हैं। उन्होंने ये भी कहा था कि इस मामले की जांच तटस्थ एजेंसी से क्यों नहीं कराई जा रही है?

रविवार को हिमंत बिस्वा सरमा ने क्या कहा

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बीते सोमवार को असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा था कि मेरे खिलाफ कांग्रेस पार्टी रोज़ एक एफआईआर दर्ज़ करा देती है। एक और FIR दर्ज़ हो गई है। इससे मुझे कोई समस्या नहीं है। अगर मिज़ोरम सरकार मुझे कोई नोटिस जारी करती है तो मैं किसी भी पुलिस स्टेशन में पेश हो जाऊंगा। असम के सीएम ने आगे कहा कि असम सरकार मिज़ोरम सरकार से कभी भी, कहीं भी बात करने को तैयार है। अगर मिज़ोरम के मुख्यमंत्री हमें चर्चा के लिए कहते हैं तो, हम तैयार हैं। हमारी तरफ से इसमें कोई समस्या नहीं है।

Next Story