Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Breaking : मॉब लिंचिंग से खफा 49 बड़ी हस्तियों ने PM Modi को लिखा पत्र, बोले- सख्त कार्रवाई की जाए

देश में बढ़ती मॉब लिंचिंग की घटनाओं से परेशान फिल्म जगत और अन्य क्षेत्र के 49 बड़ी हस्तियों ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर इस मामले के प्रति संज्ञान लेने को कहा है। पत्र में देश के विभिन्न हिस्सों में हो रही लिंचिंग की घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि देश का माहौल बिगड़ रहा है। इसे सुधारने का जल्द प्रयास नहीं किया गया तो हालात और भी बदतर होता जाएगा।

Breaking : मॉब लिंचिंग से खफा 49 बड़ी हस्तियों ने PM Modi को लिखा पत्र, बोले- सख्त कार्रवाई की जाए

देश में बढ़ती मॉब लिंचिंग की घटनाओं से परेशान फिल्म जगत और अन्य क्षेत्र के 49 बड़ी हस्तियों ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर इस मामले के प्रति संज्ञान लेने को कहा है। पत्र में देश के विभिन्न हिस्सों में हो रही लिंचिंग की घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि देश का माहौल बिगड़ रहा है। इसे सुधारने का जल्द प्रयास नहीं किया गया तो हालात और भी बदतर होता जाएगा।


हस्तियों ने पत्र में आगे लिखा कि जय श्री राम का नारा आज के दौर में भड़काऊ बनता जा रहा है, श्री राम चंद्र बहुसंख्यक समुदाय के इष्टदेव हैं, पवित्र हैं लेकिन राम का नाम इस तरह के हिंसक कृत्य में लेना बंद होना चाहिए। हस्तियों ने पीएम मोदी से सवाल करते हुए लिका कि देश में मॉब लिंचिंग की 840 घटनाएं हुईं हैं जिनमें दलित व अल्पसंख्यक समुदाय के लोग शिकार हुए, क्या इसके खिलाफ कार्रवाई की गई?

ये है 49 हस्तियों के नाम जिनका पत्र पर हस्ताक्षर है

पीएम मोदी को पत्र लिखने वाले हस्तियों में कौशिक सेन (फिल्म से जुड़े व्यक्ति), केतन मेहता (फिल्म मेकर), कोंकणा सेन (फिल्म मेकर व एक्टर), मणि रत्नम (फिल्म मेकर), मुदर पथेरिया, नारायण सिन्हा, नवीन किशोर, परमब्रत चट्टोपाध्याय, पर्था चटर्जी, पिया चक्रबर्ती, प्रदीप कक्कड़, रामचंद्र गुहा (प्रसिद्ध इतिहासकार), रत्नाबली राय, रेवेथी आशा, रिद्धी सेन, रूपम इस्लाम (गायक, संगीतकार), रूपसा दासगुप्ता, शक्ति रॉय चौधरी (प्रोफेसर), समीक बनर्जी (फिल्म शोधकर्ता), शिवाजी बसु (सर्जन), शुभा मुग्दल (गायक, संगीतकार), श्याम बनेगल (फिल्म मेकर), सौमित्र चटर्जी (फिल्म एक्टर), सुमन घोष (फिल्म मेकर), सुमित सरकार, तनिका सरकार (इतिहासकार), तपस रॉय चौधरी (सर्जन) शामिल हैं, इन हस्तियों के हस्ताक्षर पत्र में अंकित हैं।

Next Story
Top