Logo
election banner
China Flag on Indian Rocket Ad Row: तमिलनाडु में चीनी विज्ञापन विवाद तूल पकड़ रहा है। एक बार फिर भाजपा ने मुख्यमंत्री एमके स्टालिन पर निशाना साधा। भाजपा ने उन्हें चीनी भाषा में जन्मदिन की बधाई दी है।

China Flag on Indian Rocket Ad Row: तमिलनाडु में चाइनीज रॉकेट विज्ञापन विवाद थम नहीं रहा है। शुक्रवार को भाजपा ने एक बार फिर मुख्यमंत्री एमके स्टालिन पर निशाना साधा। हालांकि भाजपा का यह पलटवार बड़ा प्यार भरा रहा। तमिलनाडु बीजेपी ने मुख्यमंत्री को चीनी भाषा मडारिन में उनके जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। एक्स पोस्ट में कहा गया कि तमिलनाडु बीजेपी की ओर से हमारे माननीय सीएम थिरु एमके स्टालिन को उनकी पसंदीदा भाषा में जन्मदिन की शुभकामनाएं। वह लंबा और स्वस्थ्य जीवन जिएं। 

कैसे हुई चीन हुई एंट्री?
दरअसल, तमिलनाडु में चीन की एंट्री उस वक्त हुई जब थूथुकुडी जिले के कुलसेकरपटि्टनम में इसरो के दूसरे लॉन्च पैड को लेकर तमिलनाडु की पशुपालन मंत्री अनिता राधाकृष्णन ने स्थानीय अखबारों में विज्ञापन छपवाया। विज्ञापन में रॉकेट पर चीनी झंडे को दिखाया गया। विज्ञापन में इसरो के लिए दूसरे लॉन्च पैड की स्थापना पर खुशी जाहिर की गई। साथ ही इस विज्ञापन के जरिए महत्वपूर्ण परियोजना को लाने में डीएमके की भूमिका को उजागर किया गया। इसके बाद से डीएमके और भाजपा के बीच वॉकयुद्ध जारी है।  

सांसद कनिमोझी ने स्वीकार की गलती
थूथुकुडी सांसद कनिमोझी ने विज्ञापन में गलती को स्वीकार किया है। उन्होंने गलती के लिए डिजाइनर को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने यह कहते हुए अपनी पार्टी का बचाव किया कि इस मुद्दे पर इतनी तीव्र प्रतिक्रिया की आवश्यकता नहीं है। विवादास्पद पोस्टर में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री एमके स्टालिन को एक साथ दिखाया गया था और बैकग्राउंड में एक रॉकेट था।

मंत्री ने डिजाइनर पर फोड़ा ठीकरा
मत्स्य पालन मंत्री अनीता आर राधाकृष्णन ने भी कहा कि चीनी झंडे को डिजाइनर ने गलती से शामिल कर लिया था। हमारी पार्टी की कोई गलत मंशा नहीं थी। राधाकृष्णन ने जाति या धर्म के आधार पर संघर्षों को जगह दिए बिना एकजुट भारत के लिए द्रमुक की प्रतिबद्धता पर जोर दिया। यह भी कहा कि हमारे दिलों में केवल भारत के लिए प्यार है। 

jindal steel Ad
5379487