Logo
election banner
Lok Sabha election 2024 Asansol: लोकसभा चुनाव 2024 में पश्चिम बंगाल की आसनसोल सीट पर बेहद दिलचस्प मुकाबला होने वाला है। यहां से हिन्दी फिल्मों के अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा और भोजपुरी एक्टर और सिंगर पवन सिंह चुनावी मैदान में ताल ठोंक सकते हैं।

Lok Sabha election 2024 Asansol: लोकसभा चुनाव 2024 के लिए बीजेपी ने अपने 155 कैंडिडेट्स की लिस्ट तैयार कर ली है। इसमें कई ऐसी सीटें ऐसी हैं जहां पर मुकाबला बेहद दिलचस्प होने के आसार हैं। पश्चिम बंगाल की आसनसोल सीट से बीजेपी की ओर से भोजपुरी सिंगर और सुपरस्टार पवन सिंह को टिकट देने की बात कही जा रही है। यहां पर वह तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के प्रत्याशी और हिंदी फिल्मों के जाने-माने अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेंगे। कभी बीजेपी में रहे शत्रुघ्न सिन्हा दो पार्टियां छोड़ चुके हैं और फिलहाल टीएमसी में हैं।

2019 में शत्रुघ्न ने छोडी थी बीजेपी
शत्रुघ्न सिन्हा पहले बीजेपी के टिकट से भी चुनाव लड़ चुके हैं। शत्रुघ्न सिन्हा ने 2019 में बीजेपी से इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफा देने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा था कि वह महसूस कर रहे हैं कि बीजेपी के भीतर 'वन मैन शो, टू मैन आर्मी' चल रहा है। साथ ही उन्होंने पूर्व पीएम जवाहलाल नेहरू की तारीफ की थी। इसके कुछ ही दिन बाद वह कांग्रेस में शामिल हो गए थे। हालांकि वह ज्यादा दिनों तक कांग्रेस में भी नहीं टिके और 15 मार्च 2022 को टीएमसी में शामिल हो गए। टीएमसी के टिकट से  लोकसभा चुनाव लड़कर उन्होंने आसनसोल सीट से जीत हासिल की।

आडवाणी की आंखों में आंसू आ गए थे
बताया जाता है कि शत्रुघ्न सिन्हा बीजेपी छोड़ने से पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी से आशीर्वाद लेने पहुंचे थे, कथित तौर पर शत्रुघ्न सिन्हा का फैसला सुनकर आडवाणी की आंखोंं में आंसू आ गए थे। बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा बीजेपी के टिकट से बिहार की राजधानी पटना के पटना साहिब लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा करते थे। इस सीट से शत्रुघ्न सिन्हा ने 2014 में कांग्रेस के प्रत्याशी कुणाल सिंह को हराया था। हालांकि 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी नेता और मौजूदा केंद्रीय नेता रविशंकर प्रसाद ने उन्हें 2.84 लाख वोटों से शिकस्त दी थी। 

पवन सिंह ने 2014 में जॉइन की थी बीजेपी
भोजपुरी एक्टर और सिंगर पवन सिंह ने 2014 में बीजेपी जॉइन की थी। तत्कालीन बीजेपी महासचिव अरुण सिंह ने उन्हें पार्टी जॉइन कराई थी। उस समय भी यह चर्चा थी कि बीजेपी उन्हें टिकट दे सकती है। हालांकि, ऐसा नहीं हो सका और दस साल के लंबे इंतजार के बाद अब पवन सिंह को बीजेपी दे सकती है। पवन सिंह बिहार के आरा के रहने वाले हैं। ऐसे में शुरुआत में यह चर्चा थी कि पवन सिंह को आरा से ही उम्मीदवार बनाया जा सकता है। हालांकि शुक्रवार को बीजेपी सीईसी कमेटी की बैठक के बाद अटकलें तेज हैं कि पवन सिंह को आसनसोल सीट से चुनावी मैदान में उतारा जाएगा। 

आसनसोल सीट से बिहार के बॉर्डर के करीब
दरअसल आसनसोल सीट पश्चिम बंगाल की एक ऐसी सीट है जो बिहार के बॉर्डर से बिल्कुल करीब है। यहां पर भोजपुरी गाने और फिल्में देखीं और पसंद की जाती है। ऐसे में  यह कहा जा रहा है कि पार्टी ने काफी सोच समझकर पवन सिंह को यहां से उतारने का फैसला किया है। मौजूदा समय में भोजपुरी फिल्मों के तीन कलाकार ऐसे हैं जिन्होंने बीते लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की थी। इनमें रवि किशन, दिनेशलाल यादव निरहुआ और मनोज तिवारी शामिल हैं। भोजपुरी सितारों का लोकसभा चुनावों में सक्सेस रेट अच्छा है। ऐसे में इस बात की ज्यादा संभावना है कि पवन सिंह आसनसोल सीट आसानी से जीत जाएंगे। 

पवन की तगड़ी फैन फॉलोंंइंग और डाई हार्ड फैन बेस
पवन सिंह एक अभिनेता होने के साथ ही सामाजिक गतिविधियों में भी बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते रहे हैं। अभनेता की फैन फॉलाेइंग काफी तगड़ी है। इंस्टाग्राम पर पवन सिंह के तीन मीलियन से अधिक फॉलोअर हैं, वहीं फेसबुक पर चार मीलियन से ज्यादा फॉलोवर हैं।  यू ट्यूब पर भी पवन सिंह का चार मीलियन से ज्यादा का सब्सक्राइबर बेस है। पवन सिंह को इनके फैंस ज्यादातर पवन भैया बुलाते हैं और यह अपने समर्थकों में पावर स्टार के नाम से फेमस है। जैसे ही पवन सिंह को आसनसाेल से टिकट मिलने की बात सामने आई है पवन के समर्थकों ने अपने चहेते अभिनेता के समर्थन में अभियान शुरू कर दिया है। 

5379487