Logo
election banner
Poppy Seeds Khas Khas: खसखस शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसका सेवन दिल को हेल्दी रखने के लिए साथ ही दिमाग के लिए बहुत लाभकारी होता है।

Poppy Seeds Khas Khas: बड़े-बुजुर्ग रोजाना सुबह खस-खस से बना हलवा खाने की सलाह देते हैं, इससे दिमाग तेज होता है। खसखस के छोटे बारीक दाने अपने अगर ढेरों गुण छिपाए हुए हैं। इनका सेवन शरीर का कई बीमारियों से बचाव करता है। ये छोटे-छोटे दाने फाइबर, फैट, न्यूट्रिएंट्स, विटामिंस से भरपूर हैं। खसखस की तासीर ठंडी होती है, यही वजह है कि अगर गर्मी के दिनों में इसका सेवन किया जाए तो शरीर को कई बड़े फायदे मिल सकते हैं। 

खसखस का इस्तेमाल कई फूड डिशेस में भी किया जाता है। सब्जियों की ग्रेवी बनाने के साथ ही मिठाइयों में खसखस खूब इस्तेमाल होती है। आइए जानते हैं खसखस खाने के फायदे। 

खसखस खाने के फायदे

हार्ट हेल्थ - आप अगर अपने दिल की सेहत को दुरुस्त रखना चाहते हैं तो खसखस खाना शुरू कर दें। खसखस फाइबर से भरपूर है और इसमें पोटैशियम, ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड भी पाया जाता है। खसखस खाने से कोलेस्ट्रॉल घटने के साथ ही हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल रखने में भी मदद मिलती है। 

इसे भी पढ़ें: Anti Aging Foods: बुढ़ापे की तेज़ रफ्तार पर लगेगी लगाम, 5 चीज़ें आज से ही खाना कर दें शुरू, थम जाएगी बढ़ती उम्र!

ब्रेन हेल्थ - दिमाग को हेल्दी रखने के लिए इसकी सही तरीके से फंक्शनिंग जरूरी है। ब्रेन फंक्शनिंग को बेहतर बनाने में खसखस का सेवन फायदेमंद हो सकता है। इसमें कैल्शियम, आयरन, कॉपर समेत ढेरों पोषक तत्व पाए जाते हैं। खसखस खाने से याददाश्त बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है। खसखस न्यूरोनल फंक्शन को बैलेंस करने में मदद करता है। 

डाइजेशन - डाइजेशन को बेहतर बनाने में खसखस का सेवन फायदेमंद हो सकता है। खसखस में मौजूद फाइबर कब्ज नहीं होने देता है और गैस, अपच जैसी समस्याओं से भी राहत दिला सकता है। 

इसे भी पढ़ें: Weight Loss Tips: महीने भर में छंटने लगेगी कमर की चर्बी, 5 टिप्स बदल देंगे पूरा लुक, हर कोई पूछेगा दुबले होने का राज़

बॉडी टेम्परेचर - गर्मी के दिनों में खसखस का सेवन राहत दिला सकता है। दरअसल, खसखस की तासीर ठंडी होती है और इसे खाने से पेट की गर्मी शांत रहती है। इसके साथ ही बॉडी टेम्परेचर को मेंटेन रखने में भी खसखस फायदेमंद हो सकती है। 

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. हरिभूमि इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।)

5379487