Logo
Parenting Tips: हर मां-बाप चाहते हैं कि उनका बच्चा अनुशासन में रहे और अच्छे संस्कार सीखे। इसके लिए पैरेंट्स को बच्चे को कुछ तरीकों से अनुशासन का पाठ पढ़ाना जरूरी हो जाता है।

Parenting Tips: हर पैरेंट्स की ये ख्वाहिश होती है कि उनका बच्चा संस्कारी बने। अनुशासित रहने वाले बच्चे जीवन में बड़ी उपलब्धि हासिल करते हैं। हालांकि उम्र बढ़ने के साथ ही बच्चों को अनुशासन का पाठ सिखाना मुश्किल होता जाता है। अगर बच्चे पर समय रहते ध्यान न दिया जाए तो वे अनुशासित होने के बजाय अवज्ञाकारी हो जाते हैं। इसीलिए हर पैरेंट्स की ये जिम्मेदारी बनती है कि बच्चे को अनुशासन में रखें। 

बच्चे को अनुशासित रखते हुए संस्कारी बनाने में कुछ तरीके काफी मददगार साबित हो सकते हैं। पैरेंट्स इन तरीकों को अपनाकर अपने बच्चों के भविष्य को बेहतर बनाने का काम कर सकते हैं। 

5 पैरेंटिंग टिप्स आएंगे बेहद काम

नियम और दिनचर्या बनाएं: बच्चों के लिए स्पष्ट नियम और दिनचर्या बनाएं। उन्हें बताएं कि उनसे क्या अपेक्षा की जाती है और गलत व्यवहार के परिणाम क्या होंगे। दिनचर्या में समय पर उठना, नाश्ता करना, स्कूल जाना, होमवर्क करना, समय पर सोना आदि शामिल करें। नियमों को उम्र के अनुसार बनाएं और धीरे-धीरे उनमें बदलाव लाते रहें।

इसे भी पढ़ें: Parenting Tips: दिन पर दिन जिद्दी होता जा रहा है आपका बच्चा, 5 पैरेंटिंग टिप्स अपनाएं, सीख जाएगा अनुशासन

अच्छे काम की प्रशंसा: जब आपके बच्चे अच्छा व्यवहार करते हैं, तो उनकी प्रशंसा करें और उन्हें पुरस्कृत करें। यह उन्हें अच्छा व्यवहार करने के लिए प्रोत्साहित करेगा। पुरस्कार मुखर प्रशंसा, छोटे उपहार, या विशेष गतिविधियाँ हो सकते हैं।

गलती पर सख्ती दिखाएं: जब आपके बच्चे गलत व्यवहार करते हैं, तो उन्हें उचित नकारात्मक परिणाम भुगतने दें। परिणाम उम्र और गलती की गंभीरता के अनुसार होने चाहिए। नकारात्मक परिणामों में टाइम-आउट, विशेषाधिकारों का छीनना, या अतिरिक्त काम करना शामिल हो सकता है।

एक अच्छे रोल मॉडल बनें: बच्चे अपने माता-पिता और देखभाल करने वालों से सीखते हैं। यदि आप अनुशासित नहीं हैं, तो आपके बच्चे भी अनुशासित नहीं होंगे। अपने बच्चों के सामने हमेशा सही व्यवहार करें और नियमों का पालन करें।

इसे भी पढ़ें: Parenting Tips: बच्चे पर हावी हो रही है निगेटिविटी, 5 पैरेंटिंग टिप्स करें फॉलो, कुछ ही वक्त में दिखने लगेगा बदलाव

धैर्य रखें: बच्चों को अनुशासन सिखाने में समय और धैर्य लगता है। उनसे गलतियाँ होने की उम्मीद करें और उन्हें सीखने में मदद करें। निरंतरता बनाए रखें और अपने प्रयासों में हार न मानें।

jindal steel Ad
5379487