logo
Breaking

भारतीय रेल करेगी बंपर भर्ती, अगले एक साल 10 लाख लोगों को मिलेगी नौकरी

सरकार रेलवे ट्रैक और सुरक्षा रखरखाव कार्यक्रम पर आक्रामक तरीके से आगे बढ़ रही है।

भारतीय रेल करेगी बंपर भर्ती, अगले एक साल 10 लाख लोगों को मिलेगी नौकरी

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा कि देश में रेलवे के पारिस्थितकी तंत्र से जुड़े समूचे क्षेत्र में कामकाज से एक साल के भीतर ही 10 लाख रोजगार के अवसरों का सृजन हो सकता है।

उन्होंने गुरुवार को यहां विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के भारत आर्थिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि रीयल एस्टेट संपत्तियों के मौद्रिकरण और मौजूदा निवेश योजनाओं को रफ्तार देने से रेलवे और इसके आसपास के पारिस्थितकी तंत्र में रोजगार के काफी अवसर पैदा होंगे।

रेलवे में सीधे नही उससे जुड़ी होगी नौकरियां

गोयल ने कहा, ‘मेरा खुद का मानना है कि बेशक ये रेलवे में सीधी नौकरियां नहीं होंगी, लेकिन लोगों को जोड़कर और पारिस्थितकी तंत्र के विभिन्न क्षेत्रों में काम कर एक साल में कम से कम दस लाख रोजगार के अवसर सृजित किए जा सकते हैं।’

उन्होंने कहा कि सरकार रेलवे ट्रैक और सुरक्षा रखरखाव कार्यक्रम पर आक्रामक तरीके से आगे बढ़ रही है।

सुरक्षा कार्यक्रम से दो लाख रोजगार

सुरक्षा कार्यक्रम से अकेले दो लाख रोजगार के अवसर पैदा किए जा सकते हैं। गोयल ने कहा कि यदि मैं पाइपलाइन के निवेश को देखूं और उसे क्रियाशील करूं, तो इससे मौजूदा परियोजनाओं में 2-2.5 लाख रोजगार पैदा किए जा सकते हैं।

सौंदर्य प्रसाधन उद्योग बढ़ा सकते हैं रोजगार

केंद्रीय मंत्री सीआर चौधरी ने कहा कि सौंदर्य प्रसाधन उद्योग में रोजगार के अवसर पैदा करने की काफी संभावनाएं हैं। उन्होंने उद्यमियों से इस क्षेत्र में स्टार्टअप इंडिया जैसी योजनाओं का लाभ उठाकर नए कारोबार शुरू करने का आह्वान किया।

चौधरी ने उद्योग संगठन एसोचैम के एक कार्यक्रम को यहां संबोधित करते हुए कहा कि कंपनियों को सस्ते उत्पाद पेश कर उपभोक्ताओं को ठगना नहीं चााहिए।

श्रेष्ठ गुणवत्ता के उत्पाद बेचे उद्योग

उद्योग राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप श्रेष्ठ गुणवत्ता के उत्पाद बेचने चाहिए। उन्होंने कहा, ‘आप यह जानकर हैरान हो जाएंगे कि यह छोटा उद्योग रोजगार के काफी अवसर मुहैया करा रहा है। भारत को रोजगार के अवसरों की जरूरत है। हमारी नई पीढ़ी को रोजगार चाहिए।’

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कारोबार को बढ़ाकर तथा स्टार्टअप जैसी योजनाओं का लाभ उठा स्टार्टअप शुरू कर रोजगार के अधिक अवसर सृजित किए जा सकते हैं।

15 फीसदी की दर से बढ़ रहा सौंदर्य उद्योग

उद्यमियों और उद्योगपतियों को अधिक से अधिक कंपनियां बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र सालाना 15 प्रतिशत की दर से वृद्धि कर रहा है और इसमें विदेशों से भी निवेश आ रहे हैं।

उन्होंने इस उद्योग की सफलता उत्पादों की गुणवत्ता पर निर्भर बताते हुए कहा कि उपभोक्ता हितों को ध्यान में रखते हुए कम से कम दुष्प्रभाव वाले उत्पाद बेचने पर ध्यान होना चाहिए।

ग्राहक देवता हैं : चौधरी

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘ग्राहक देवता हैं। मैं इस उद्योग से आग्रह करता हूं कि वे राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मानकों को ध्यान में रखें। अन्य देशों से प्रतिस्पर्धा के लिए कंपनियों को गुणवत्ता वाले उत्पादों पर ध्यान केंद्रित करना होगा।’

चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार उपभोक्ताओं के हितों की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए नया उपभोक्ता संरक्षण विधेयक ला रही है जिसके संसद के शीतकालीन सत्र में पारित हो जाने की उम्मीद है।

Share it
Top