Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Whatsapp RBI के सुझाव के लिए तैयार, भारत में ही रहेगी पेमेंट ट्रांसजेक्शन की जानकारी

दुनिया की सबसे दिग्गज इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप Whatsapp ने देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय रिजर्व बैंक की गाइडलाइंस को फॉलो किया हैं। इसके साथ ही व्हाट्सएप ने मंगलवार को कहा हैं कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के निर्देश दिए हैं।

Whatsapp RBI के सुझाव के लिए तैयार, भारत में ही रहेगी पेमेंट ट्रांसजेक्शन की जानकारी
X

दुनिया की सबसे दिग्गज इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप Whatsapp ने देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय रिजर्व बैंक की गाइडलाइंस को फॉलो किया हैं। इसके साथ ही व्हाट्सएप ने मंगलवार को कहा हैं कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के निर्देशों के अनुसार, उसने देश के भीतर ही भुगतान संबंधी डाटा रखने के सस्टिम को शुरू किया हैं।

ये भी पढ़े: Facebook पर वायरल हो रहा हैं यह मैसेज, अगर आप पर भी आया यह तो अकाउंट हो सकता क्लोन

आरबीआई ने 6 अप्रैल को अपने निर्देश में कहा हैं कि भुगतान सेवा देने वाले सभी को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि भुगतान संबंधी सभी आंकड़ों को भारत में एक सस्टिम के तहत स्थापित रखना होगा। रिजर्व बैंक ने ऐसा करने के लिए कंपनियों को 15 अक्टूबर तक का समय दिया हैं।

Whatsapp के प्रवक्ता ने कहा हैं कि भारत में करीब 10 लाख लोग सुरक्षित और साधारण तरीके से एक-दूसरे को पैसा भेजने के लिए व्हाट्सएप का इस्तेमाल करते हैं। इसके साथ ही रिजर्व बैंक के डाटा संग्रहण संबंधी ऐलान के बाद हमने एक सस्टिम को स्थापित किया है, जो ति भुगतान संबंधी सभी आंकड़ों का भारत में ही रखेगा।

उन्होंने आगे कहा हैं कि व्हॉट्सएप की इस सर्विस को को भारत में शुरू करने की तैयारी कर रहा हैं। इसकी वजह से भारत में सभी लोगों तक फाइनेशियल सर्विस पहुंच जाएंगी। रिजर्व बैंक ने कहा था कि पेमेंट सर्विस की बेहतर निगरानी के लिए व्हॉट्सएप से होने वाले पेमेंट ट्रांसजेक्शन पर उपचारिक रुप से निगारानी रखी जा सकेगी।

ये भी पढ़े: Flipkart Big Billion Days 2018: स्मार्टफोन पर मिल रहा हैं इंश्योरेंस, Bajaj Allainz के साथ की डील, ऐसे उठाएं लाभ

बता दें कि रिजर्व बैंक ने कहा है कि इस सस्टिम में पेमेंट की शुरू से लेकर आखिर तक की जानकारी होनी चाहिए, जिससे पेमेंट ट्रांसजेक्शन पर नजर रखी जा सके।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story