Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अगर आप भी करते हैं Credit Card का इस्तेमाल, तो इन 4 गलतियों को करने से हमेशा बचें

आज के समय में आधे से ज्यादा आबादी क्रेडिट कार्ड के साथ डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करती है। साथ ही ये कार्ड्स लोगों के बहुत काम भी आते हैं और शहरी आबादी में क्रेडिट कार्ड काफी लोकप्रिय है।

अगर आप भी करते हैं Credit Card का इस्तेमाल, तो इन 4 गलतियों को करने से हमेशा बचें
X

आज के समय में आधे से ज्यादा आबादी क्रेडिट कार्ड के साथ डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करती है। साथ ही ये कार्ड्स लोगों के बहुत काम भी आते हैं और शहरी आबादी में क्रेडिट कार्ड काफी लोकप्रिय है।

रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय अपने क्रेडिट कार्ड की तरफ ज्यादा अग्ग्रेसिव एप्रोच रखते है और भारत में ही सबसे ज्यादा क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है।

BSNL ने Blackout Days को किया खत्म, यूजर्स स्पेशल पैक्स को कर पाएंगे यूज

जब से क्रेडिट कार्ड चलन बढ़ा है, तब से इसकी पेमेंट प्रोसेस में चूक के मामले में भी बढ़ गए है। जो लोग हाल ही में नए क्रेडिट कार्ड होल्ड्स है, उनको कुछ बातों पर ध्यान देना चाहिए, जिससे वे बिना किसी परेशानी के कार्ड इस्तेमाल कर पाएंगे। आइए जानते है इन चार जोखिमों के बारे में...

इन चार जोखिमों से बचें

1. ज्यादा खर्च

जैसे ही क्रेडिट कार्ड को स्वाइप किया जाता है, तब तुरंत ही पैसे डेबिट नहीं होते है। ऐसे में लोगों अपना खर्चा ज्यादा नहीं लगता है। यह एक ऐसी चीज है, जो कि कार्ड धारक को परेशानी में डाल सकते है।

इसके साथ ही कार्ड धारक को उतना ही खर्चा करना चाहिए, जितने का भुगतान कर पाए। अगर ज्यादा खर्च करते है, तो कर्ज में फंस सकते है। अगर इससे बचना है, तो इसके लिए कार्ड धारक को अपने फोन में एसएमएस का अलर्ट करवा सकते है, जिससे अपने खर्चे पर नजर रख सकते है।

2. कर्ज

क्रेडिट कार्ड अपने धारक को अपने कर्ज का भुगतान करने के लिए एक न्यूतम राशि का भुगतान करने का कहता है और बाकि की राशि को आगे बढ़ा सकते है। अगर ऐसा होता है, तो बचे हुए पैसे पर ज्यादा ब्याज लग जाता है, जिसकी वजह से पेमेंट करने में परेशानी होती है।

3. चार्ज

जो कार्ड धारक अपनी बाकि की राशि का भुगतान नहीं कर पाते है, उनपर 35 प्रतिशत से लेकर 50 प्रतिशत तक ब्याज लग जाता है। इसके साथ ही जो धारक अपना कर्ज सही समय पर नहीं चुका पाते है, उन्हें इसपर 1000 रुपए का एक्सट्रा चार्ज देना होता है। अगर धारक ने अपना बचा हुआ कर्ज आगे बढ़ाया दिया है, तो उसे इसपर ज्यादा ब्याज देना होगा।

4. क्रेडिट स्कोर

अगर लोग लोन चाहते है, तो कंपनी उनका क्रेडिट स्कोर या सिबिल स्कोर देखेगी। अगर यह स्कोर बहुत अच्छा हुआ, तो कंपनियां बहुत ही आसानी से लोन दे देगी और वहीं अगर स्कोर अच्छा नहीं हुआ तो लोक के लिए ऐप्लिकेशन रिजेक्ट हो सकती है। इसके लिए अपना क्रेडिट स्कोर अच्छा रखना जरूरी है।

इस स्कोर में बिल की लेट पेमेंट, क्रेडिट कार्ड की एप्लिकेशन, क्रेडिट लिमिट बढ़ाना जैसी चीजे शामिल होती है। अगर अपना क्रेडिट स्कोर को अच्छा करना है, तो इसके लिए 30/25/20 का तरीका अपनाना होगा।

JIO CINEMA और DISNEY India ने मिलाया हाथ, यूजर्स को मिलेगी अपनी पसंद की कहानियां

लेट बिल पेमेंट क्रेडिट स्कोर में सबसे बड़ा असर डालता है। इसके साथ ही कर्ज को लेट पेमेंट करने पर स्कोर पर 30 प्रतिशत तक का प्रभाव पड़ता है। इस स्कोर को सही रखने के लिए कार्ड धारक को अपनी सभी पेमेंट सही समय पर करनी होगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story