Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब स्मार्टफोन के रेडिएशन का पता करना हुआ आसान, जानें कैसे बचें और क्या है नुकसान

आज के वक्त में ज्यादातर लोग स्मार्टफोन्स का इस्तेमाल करते हैं, साथ ही इन छोटे से छोटा या बड़े से बड़ा काम इन स्मार्टफोन्स पर किया जाता है। लेकिन यह स्मार्टफोन्स लोगों के लिए जानलेवा भी साबित हो सकती है।

अब स्मार्टफोन के रेडिएशन का पता करना हुआ आसान, जानें कैसे बचें और क्या है नुकसान
X

आज के वक्त में ज्यादातर लोग स्मार्टफोन्स का इस्तेमाल करते हैं, साथ ही इन छोटे से छोटा या बड़े से बड़ा काम इन स्मार्टफोन्स पर किया जाता है। लेकिन यह स्मार्टफोन्स लोगों के लिए जानलेवा भी साबित हो सकते है, क्योंकि जितने भी स्मार्टफोन्स हैं, वे रेडिएशन निकलते है।

अंतराष्ट्रीय स्तर पर मानक तैयार किया गया है और यह इसलिए किया गया है क्योंकि स्मार्टफोन रेडिऐशन निकालते है। वहीं लोगों को पता होना चाहिए कि उनके स्मार्टफोन्स से कितना रेडिएशन निकलता है। आइए जानते है इसके बारे में...

ये भी पढ़े: BSNL अपने यूजर्स को दे रहा हैं Amazon Prime की फ्री सब्सक्रिप्शन, ऐसे उठाएं फायदा

ये हो सकती है बीमारियां

स्मार्टफोन से जो रेडिएशन निकालती हैं, वे व्यक्ति के दिमाग के साथ शरीर खराब असर डालती है। वहीं स्मार्टफोन से निकलने वाली रेडिएशन से ब्रेन कैंसर के साथ बहरापन, सुनने में परेशानी, हार्ट फेलियर, न्यूरोडेगेनेरेटिव डिसऑर्डर जैसी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं।

ऐसे करें पता रेडिएशन का

स्मार्टफोन्स से जो रेडिएशन निकलती हैं, उसे Specific Absorption Rate यानी SAR कहते है। SAR 1.6 वॉट प्रति किलो से ज्यादा नहीं होना चाहिए, वरना लोगों को इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

अगर लोगों को अपने स्मार्टफोन का रेडिएशन का पता करना हैं तो उन्हें *#07# कोड डायल करना होगा। इसके बाद यह लोगों को रेडिएशन की जानकारी देगा। वहीं दूसरी तरफ लोगों को ध्यान रखना होगा कि उनके स्मार्टफोन का SAR 1.6 वॉट प्रति किलो से ज्यादा है तो लोगों को गंभीर बीमारियां हो सकती है।

ऐसे करें बचाव

1. अगर लोगों को अपने स्मार्टफोन से निकलने वाले रेडिएशन को कम करना है तो उन्हें अपना स्मार्टफोन कम से कम फोन इस्तेमाल करना होगा।

2. अगर रेडिएशन से बचना हैं तो लोगों को ऑफिस और घर में लैंडलाइन का इस्तेमाल करना चाहिए।

3. वहीं लोगों को ध्यान देना चाहिए कि अगर आपका दोस्त फोन पर बात कर रहा है, तो लोगों उनसे दूर रहना चाहिए।

ये भी पढ़े: कॉल ड्रॉप से परेशान पीएम नरेंद्र मोदी, TRAI से की शिकायत, आज से होगा नया नियम लागू

4. लोगों को बस, ट्रेन या प्लेन में फोन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, क्योंकि फोन से निकलने वाला रेडिएशन मेटल की चीजों के जरिए ज्यादा फैलती है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story