Hari Bhoomi Logo
शनिवार, सितम्बर 23, 2017  
Breaking News
Top

आतंकवाद पर दोगली नीति खत्म करे पाक: ट्रंप प्रशासन

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 7 2017 3:33PM IST
आतंकवाद पर दोगली नीति खत्म करे पाक: ट्रंप प्रशासन

भारत वर्षों से कहता रहा है कि आतंकवाद पर पाकिस्तान की दोहरी नीति है। अब ट्रंप प्रशासन ने भी कहा है कि पाक आतंकवाद पर दोगली नीति खत्म करे। जगजाहिर है कि पाक अच्छा आतंकवाद और बुरा आतंकवाद की नीति का पोषक रहा है। पाकिस्तान की फौज और उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई पड़ोसी मुल्कों के खिलाफ अपने अच्छे आतंकवाद का इस्तेमाल एक हथियार के रूप में करती रही हैं।

अपने पड़ोसी देश भारत और अफगानिस्तान में आतंकी वारदातों को अंजाम देने के लिए पाक अपनी भूमि पर आतंकी गुटों को पनाह दिया हुआ है। यह बात पूरी दुनिया जान चुकी है कि पाक फौज व उसकी खुफिया एजेंसी आईएसअाई अपने यहां के हक्कानी नेटवर्क, तहरीके तालिबान जैसे आतंकी गुटों के जरिये अफगानिस्तान को आतंकवाद का जख्म देती हैं और लश्करे तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, झंगावी, अलकायदा, हिज्बुल जैसे आतंकी गुटों के जरिये भारत में आतंकी वारदात को अंजाम देती हैं।

भारत करीब 40 साल से कश्मीर में पाक प्रायोजित आतंकवाद से लड़ रहा है। कश्मीर में अलगावावादियों और भारत विरोधी हुर्रियत नेताओं को भी पाक पैसे और हथियार की मदद करता रहा है। भारत ने संयुक्त राष्ट्र समेत लगभग सभी वैश्विक मंचों पर आतंकवाद को प्रश्रय देने के लिए पाकिस्तान को बेनकाब किया है। भारत द्वारा पाक की पोल खोलने का ही असर है कि अब अमेरिका भी पाकिस्तान को आतंकवाद खत्म के लिए दबाव डालना शुरू कर दिया है।

अमेरिकी प्रशासन और सीनेट लगातार पाकिस्तान को अमेरिकी मदद रोकने की वकालत करते रहे हैं। पाक को दो बार अमेरिकी मदद रोकी भी गई है। इसके बावजूद आतंकी गुटों को पनाह देने के मामले में पाकिस्तान के रवैये में कोई अंतर देखने को नहीं मिला। हाल ही में अमेरिका ने हिज्बुल सरगना सैयद सलाहुद्दीन को वैश्विक आतंकी घोषित किया है। हाफिज सईद पहले से ही ग्लोबल आतंकी घोषित है।

भारत मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करवाने की कोशिश में लगा है। चीन इसमें बाधा बना हुआ है। सलाहुद्दीन को पाक पनाह दिया हुआ है। हिज्बुल कश्मीर में आतंकी वारदातों में लिप्त है। पाकिस्तान में प्रधानमंत्री बदलने के बाद भी भारत के खिलाफ आतंकवाद की नीति में कोई परिवर्तन नहीं आया। पनामागेट में नवाज शरीफ के अयोग्य ठहराये जाने के बाद नए प्रधानमंत्री बने शाहिद खाकन अब्बासी ने पद संभालते ही कहा कि पाकिस्तान की कश्मीर नीति में कोई बदलाव नहीं होगा।

यानी पाक कश्मीर में आतंकवाद को बाढ़ावा देता रहेगा। अमरनाथ यात्री पर आतंकी हमले में भी लश्कर का हाथ सामने आया है। लश्कर का ठिकाना भी पाक में है। अमेरिका जान गया है कि पाक आतंकवादियों व आतंकी गुटों के सफाए के नाम पर दी जा रही अमेरिकी मदद का इस्तेमाल अफगानिस्तान व भारत के खिलाफ आतंकवाद को पालने-पोसने व हमले करवाने में कर रहा है।

इसलिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को सख्त संदेश दिया है कि वह आतंकवाद पर दोगली नीति खत्म करे। भारत ने भी कश्मीर में पाक प्रायोजित आतंकवाद की कमर तोड़नी शुरू कर दी है। भारत एक साथ कई स्तर पर कार्रवाई कर रहा है। सेना ऑपरेशन चला रही है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी और प्रवर्तन निदेशालय शब्बीर शाह जैसे अलगाववादियों व टेरर फंडिंग के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। अब पाकिस्तान के पास कोई भी बहाना नहीं बचा है, उसको अपनी धरती से आतंकी गुटों व आतंकवादियों का सफाया करना ही होगा।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
donald trump wants pakistan to end selective support to terrorists

-Tags:#Donald Trump#Pakistan#Terrorist Attack
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo