Logo
Kenya Parliament Protest: केन्या के अन्य हिस्सों में भी मंगलवार को फाइनेंस बिल के विरोध में प्रदर्शन और झड़पें हुईं। तटीय शहर मोम्बासा, किसुमु, और गरिसा में भी प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच संघर्ष हुआ।

Kenya Parliament Protest: केन्या में मंगलवार को प्रदर्शनकारियों ने उम्र विरोध करते हुए संसद पर धावा बोलने की कोशिश की। इस दौरान उन्हें रोकने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। इस दौरान कम से कम पांच प्रदर्शनकारियों की जान चली गई और दर्जनों घायल हो गए। क्योंकि संसद ने टैक्स बढ़ाने के लिए कानून पारित कर दिया। केन्या में लोग टैक्स बढ़ोतरी से परेशान हैं और सरकार के खिलाफ विरोध में सड़कों पर उतर आए। प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति विलियम रूटो के इस्तीफे की मांग की है।

केन्याई एक्टिविस्ट हैं औमा ओबामा
सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों में केन्याई कार्यकर्ता औमा ओबामा भी शामिल थीं। जो कि पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की सौतेली बहन हैं। मंगलवार को नैरोबी में संसद भवन के बाहर प्रदर्शन के दौरान ओबामा की बहन पर भी आंसू गैस छोड़ी गई। (ये भी पढ़ें... केन्या की संसद पर हजारों प्रदर्शनकारियों ने धावा बोला, परिसर में आग लगाई)

ओबामा की बहन ने रिपोर्टर से क्या कहा?
औमा ओबामा से सीएनएन रिपोर्टर ने पूछा कि आप यहां क्यों आई हैं। इस पर औमा ने कहा- मैं यहां देखने आई हूं कि क्या हो रहा है। युवा केन्याई अपने अधिकारों के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। वे झंडे और बैनरों के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं। मैं अब और देख भी नहीं सकती हूं। औमा ने धुएं के बीच खांसते हुए और आंखों को बचाते हुए कहा- हम पर आंसू गैस छोड़ी जा रही है।

बराक ओबामा की ओर से नहीं आया बयान
औमा के पीछे एक प्रदर्शनकारी ने तख्ती ले रखी थी, जिस पर लिखा था- "केन्या में उपनिवेशवाद कभी ख़त्म नहीं हुआ," जबकि दूसरा चिल्ला रहा था, "यह हमारा देश है। यह हमारा देश है।" औमा ओबामा ने इससे पहले ट्विटर पर विरोध प्रदर्शन के दौरान अपनी तस्वीरें पोस्ट कीं। उधर, पूर्व राष्ट्रपति ओबामा के कार्यालय ने सौतेली बहन से जुड़ी घटना या केन्या में हिंसा पर बयान की मांग के लिए तुरंत कॉल का जवाब नहीं दिया।

संसद के बाहर तनावपूर्ण हालात बने

  • प्रदर्शनकारियों की उग्र भीड़ ने सुरक्षा घेरा तोड़कर संसद परिसर में धुसने की कोशिश की और संसद भवन के कुछ हिस्सों में आग लगा दी। इससे पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच स्थिति तनावपूर्ण हो गई। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पहले आंसू गैस और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया, लेकिन जब यह कारगर नहीं हुआ, तो उन्होंने गोलियां चलाईं।
  • रॉयटर्स के पत्रकार ने संसद के बाहर कम से कम पांच शवों को गिना है। पैरामेडिक विवियन अचीस्ता ने बताया कि कम से कम 10 लोगों को गोली मारी गई है। एक अन्य पैरामेडिक रिचर्ड नगुमो ने बताया कि गोलीबारी में 50 से अधिक लोग घायल हुए हैं।

क्या हैं प्रदर्शनकारियों की मांगें?
संसद में घुसने की कोशिश कर रहे प्रदर्शनकारी डेविस तफरी ने बताया कि हम संसद को बंद करना चाहते हैं और हर सांसद को इस्तीफा देना चाहिए। हमारे पास एक नई सरकार होगी। देश के अन्य हिस्सों में भी विरोध प्रदर्शन और झड़पें हुईं। तटीय शहर मोम्बासा, किसुमु, और गरिसा में भी प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच संघर्ष हुआ। संसद ने वित्त विधेयक को मंजूरी दी, जो अब तीसरे चरण में है और राष्ट्रपति के पास हस्ताक्षर के लिए भेजा जाएगा। अगर राष्ट्रपति के पास कोई आपत्ति है, तो वह इसे संसद वापस भेज सकते हैं। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि टैक्स बढ़ोतरी से उनकी पहले से ही कठिन जीवन यापन की स्थिति और खराब हो जाएगी।

jindal steel Haryana Ad hbm ad
5379487