Logo
election banner
Milestones: किसी एक स्थान से दूसरे स्थान तक का पहुंचने के लिए आप भी सफर करते होगें, तो अक्सर आपने देखा होगा, कि सड़क किनारे माइल स्टोन के पत्थर गड़े होते हैं।

Milestones: किसी एक स्थान से दूसरे स्थान तक का पहुंचने के लिए आप भी सफर करते होगें, तो अक्सर आपने देखा होगा, कि सड़क किनारे माइल स्टोन के पत्थर गड़े होते हैं। जो किसी गांव, शहर, जगह और निश्चित दूरी को दर्शाता है। ये माइल स्टोन के ऊपरी भाग में अलग- अलग कलर होते हैं। आखिर पत्थरों में इन कलर का मतलब क्या होता है। आईये जानते हैं।

हरे रंग का मील का पत्थर (Green Color Milestones)
राज्य में एक जिले से दूसरे जिले को संपर्क बनाने वाले मार्ग को STATE HIGHWAY कहा जाता है। इस मार्ग में सड़क किनारे हरें रंग के माइन स्टोन लगाये जाते हैं। इस सड़क का निर्माण और रखरखाव राज्य सरकार द्वारा किया जाता है। जो टू- लाइन में होती है, इसकी चौड़ाई 12 मीटर होती है। देश में 2023 के आंकड़ों के मुताबिक 170 स्टेट हाईवे हैं।

पीला रंग का मील का पत्थर (Yellow Color Milestones)
सड़क में चलते समय किनारे अगर आपकों माइलस्टोन दिखता है, जिसका ऊपरी भाग पीले कलर में होता है। तो आप समझ जाईये कि आप नेशनल हाईवे की सड़क में चल रहे हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग सभी स्टेट की सड़कों से कनेक्टिविटी रखता है। देश में नेशनल हाईवे कश्मीर से कन्याकुमारी और गुजरात के पोरबंदर से असम के सिलचर तक संपर्क बनाता है। इस मार्ग का निर्माण और रखरखाव NHAI द्वारा किया जाता है।

संतरा रंग का मील का पत्थर (Orange Color Milestoness)
प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क में ऑरेंज माइल स्टोन का उपयोग किया जाता है। ये पत्थर संकेत करते हैं कि आप PMGSY सड़क में चल रहे हैं। PMGSY सड़क ग्रामीण अंचलों को जोड़ती है। यह सड़क बनाने की योजना 25 दिसंबर 2000 को शुरू किया गया है, जो एक हजार से अधिक आबादी को जोड़ने का काम करती है। इस सड़क का निर्माण और रखरखाव ग्रामीण विकास मंत्रालय को दिया गया है।

नीले, काले रंग का माइलस्टोन (Black/Blue Color Milestones)
इस सड़क का निर्माण नगरीय निकाय द्वारा किया जाता है। सड़क किनारे आपको नीले या काले कलर में मील के पत्थर दिखे, तो समझ जाएं, कि आप किसी बड़े शहर या जिला में प्रवेश कर चुके हैं। इन सड़कों के निर्माण की रखरखाव और देखरेख स्थानीय प्रशासन, नगर निगम द्वारा किया जाता है।

सफेद रंग का माइलस्टोन (White Color Milestones)
ये मील के पत्थर ग्रामीण इलाके पहुंच मार्ग किनारे देखा जाता है। ये NON- CLASSIFIED ROADS होती हैं। इसका निर्माण PWD- Publice Work Department द्वारा किया जाता है।

इक्षांत उर्मलिया

jindal steel Ad
5379487