logo
Breaking

बंगाल में टीएमसी,कांगेस और सीपीएम को झटका- 40 हजार कार्यकर्ता हुए बीजेपी में शामिल

टीमएमसी और सीपीएम के कार्यकर्ताओं के बीजेपी में शामिल होने से बीजेपी मे खासा उल्‍लास है।

बंगाल में टीएमसी,कांगेस और सीपीएम को झटका- 40 हजार कार्यकर्ता हुए बीजेपी में शामिल
कोलकाता. पश्चिम बंगाल के जंगलमहल से तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस और सीपीएम के तकरीबन 40,000 राजनीतिक कार्यकर्ता रविवार को बीजेपी में शामिल हो गए। बीजेपी पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष राहुल सिन्हा ने जंगलमहल के कई इलाकों में बैठक की, जहां इन कार्यकर्ताओं ने पार्टी जॉइन की।
बीजेपी कार्यकर्ताओं को उम्मीद है कि अब वे राज्य की सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस से मुकाबला कर सकेंगे, जिसने लोकसभा चुनावों के बाद राज्य में आतंक का माहौल पैदा कर रखा है। सिन्हा ने इकनॉमिक टाइम्स को बताया कि जिन लोगों ने बीजेपी जॉइन किया है, उनमें सीपीएम की अंतरा भट्टाचार्य अहम हैं।
वह सीपीएम शासन के दौरान वेस्ट मिदनापुर जिले की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। इस जिला परिषद पर सीपीएम का 2013 तक शासन रहा। राज्य में 2013 में हुए चुनाव में इसी जिले में मौजूद अंतरा के घर पर तृणमूल कार्यकर्ताओं पर हमले का आरोप था। सिन्हा के मुताबिक, इसी जिले से तृणमूल कांग्रेस के दिग्गज नेता अशोक सेनापित भी बीजेपी में शामिल हो गए हैं।
जंगलमहल में सिन्हा की सभाओं और बैठकों से तृणमूल कांग्रेस थोड़ी परेशान नजर आई। सिन्हा ने बताया, 'कई पार्टियों के असंतुष्ट नेताओं के साथ मेरी बैठक से पहले तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने नयाग्राम के पास विरोध-प्रदर्शन किया। सिन्हा के इस इलाके में दौरे के दौरान झारखंड पार्टी के कुछ कार्यकर्ता भी बीजेपी में शामिल हुए। यह इलाका कभी माओवादियों का गढ़ माना जाता था।
इस बीच, बीजेपी एमपी बलबीर पुंज की अगुवाई में पार्टी की एक टीम ने रविवार को वीरभूम जिले के इलमबाजार का दौरा किया और बीजेपी के मरहूम नेता रहीम शेख के परिवार वालों से मुलाकात की। तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर शेख की हत्या का आरोप है। शेख की 7 जून को हत्या कर दी गई थी।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पश्चिम बंगाल में भी बीजेपी का जादू चला-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Share it
Top