Logo
Jobs on fake documents in UP: चित्रकूटधाम मंडल के चार जिलों में 120 शाखा डाकपाल व सहायक शाखा डाकपाल को बिना अभिलेखों की जांच के नौकरी दे दी। 32 के अभिलेख फर्जी मिलने पर बर्खास्त किया गया है।  

Jobs on fake documents in UP: उत्तर प्रदेश में डाकपाल और सहायक डाकपाल की भर्ती में व्यापक स्तर पर फर्जीवाड़ा सामने आया है। विभागीय जांच में फर्जीवाड़े की पुष्टि के बाद चित्रकूटधाम मंडल के 32 कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। यह लोग पिछले एक साल से फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी कर रहे थे।  

चित्रकूटधाम मंडल के चार जिलों में शाखा डाकपाल व सहायक शाखा डाकपाल की नियुक्तियां हुई थीं, लेकिन 120 लोगों को बिना अभिलेखों की जांच के नौकरी दे दी गई। शासन स्तर पर शिकायत हुई तो फर्जीवाड़े की जांच कराई गई। जिसके बाद 32 कर्मचारियों के अभिलेख फर्जी मिले हैं। जिन्हें बर्खास्त कर दिया गया है। 

फर्जी दस्तावेजों पर नौकरी लेने वाले कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं, लेकिन डाक अधीक्षक कई दिन से छुट्टी पर हैं। उन्होंने मामले की गोपनीयताा का हवाला देकर किसी प्रकार की जानकारी देने से भी इनकार कर दिया है। लिहाजा, FIR को लेकर अभी स्थित स्पष्ट नहीं हो पाई। 

32 कर्मचारियों के अंकपत्र फर्जी 
चित्रकूटधाम मंडल में डेढ़ वर्ष पहले हुई भर्ती में में 32 डाकपाल और सहायक डाकपाल के अंकपत्र फर्जी मिले हैं। इनमें 26 शाखा डाकपाल और 6 सहायक डाकपाल शामिल हैं। बांदा में 4 डाकपाल व 2 सहायक डाकपाल, चित्रकूट में 5 डाकपाल और 3 सहायक डाकपाल और मंडलीय कार्यालय में 3 डाकपाल, हमीरपुर में 4 और बाकी महोबा के कर्मचारी शामिल हैं।

सत्यापन में विलंब हुआ
पिछले एक साल से फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी कर रहे 32 डाककर्मियों को तीन दिन पहले बर्खाश्त कर दिया है। डिवाइस मशीनें जमा कराकर इन्हें कार्यमुक्त कर दिया गया है। डाक विभाग के अधिकारियों की मानें तो शासन स्तर से सत्यापन में विलंब हुआ है।

FIR के निर्देश 
चित्रकूटधाम मंडल के डाक अधीक्षक जीए खान ने बताया, चारों जिलों में भर्ती किए गए डाकपालों व सहायक डाकपालों के अभिलेखों का सत्यापन कराया गया है। 26 से ज्यादा डाकपालों को बर्खास्त कर एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं। 
 

jindal steel Haryana Ad hbm ad
5379487