Logo
Gurugram Honor Killing: गुरुग्राम में 18 साल की बेटी की उसके पिता और भाई ने हत्या कर शव को अरावली की पहाड़ियों पर ले जाकर जला दिया। बाद में पुलिस में गुमशुदगी का केस दर्ज करवाकर, बेटी को ढूंढने का नाटक करते रहे।

Gurugram Honor Killing: गुरुग्राम में परिवार ने 18 साल की बेटी की हत्या कर दी। हत्या करने के बाद उसके शव को अरावली की पहाड़ियों पर ले जाकर जला दिया। उसके बाद पुलिस में गुमशुदगी का केस दर्ज करवाकर, बेटी को ढूंढने का नाटक करते रहे। पुलिस ने जब जांच शुरू की तो पता चला कि पिता ने ही भाई और ताऊ समेत दूसरे रिश्तेदारों के साथ मिलकर लड़की की हत्या की है। फिलहाल, पुलिस ने आरोपी बाप, भाई और ताऊ को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि बाकी आरोपियों की तलाश जारी है।

परिजनों ने कराया था केस दर्ज

गुरुग्राम पुलिस के मुताबिक, उन्हें 18 साल की मानसी की गुमशुदगी की शिकायत मिली थी। परिजनों की ओर से कहा गया था कि 31 जनवरी को मानसी घर से कंप्यूटर क्लास के लिए निकली थी, फिर वापस नहीं लौटी। परिवार के लोगों ने दावा किया कि उन्होंने उसे काफी ढूंढा, लेकिन उसका कोई पता नहीं चला। इस मामले में पुलिस ने परिजनों के शिकायत पर गुमशुदगी का केस दर्ज कर लिया था।

इस कारण परिजन थे मानसी से खफा

यह मामला लड़की की गुमशुदगी का था, इसलिए पुलिस ने इस केस पर तेजी से जांच शुरू कर दी। पुलिस को जांच में पता चला कि लड़की 31 जनवरी को अपने किसी दोस्त के साथ गायब हो गई थी। पुलिस उस युवक तक पहुंची। वहां पता चला कि 2 फरवरी को युवक के परिवार ने लड़की के परिजनों को बुलाया था। जहां लड़की को परिवार के हवाले कर दिया और परिजन उसे अपने साथ ले गए थे। पुलिस जांच के अनुसार लड़की के युवक के साथ घर से भागने से परिवार वाले बहुत खफा हुए।

Also Read: सुसाइड नोट छोड़कर व्यापारी ने की आत्महत्या: डेढ़ करोड़ की लेनदारी से था खफा, 11 लोगों पर लगाया आरोप

3 फरवरी को उन्होंने उसकी हत्या कर दी। जांच में  पता चला पिता बलबीर, उसके बड़े भाई और 3 बेटों ने मानसी को गाड़ी में बिठाया। इसके बाद उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या के बाद लाश को सोहना के साथ लगती अरावली की पहाड़ियों में ले गए। वहां उसकी लाश को जला दिया। पुलिस ने सबूत के आधार पर 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। उनसे पूछताछ करने पर मामले का खुलासा हुआ। फिलहाल, पुलिस इस मामले में आगे की जांच कर रही है।

jindal steel Ad
5379487