Logo
election banner
हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने कहा कि निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव करवाना ही चुनाव आयोग की प्राथमिकता है। इसके मद्देनजर, राज्य में भयमुक्त व शांतिपूर्ण तरीके से मतदान सुनिश्चित करने के लिए हरियाणा पुलिस के साथ-साथ केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की कंपनियों को भी मुस्तैदी से तैनात किया जा रहा है।

Haryana: हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने कहा कि निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव करवाना ही चुनाव आयोग की प्राथमिकता है। इसके मद्देनजर, राज्य में भयमुक्त व शांतिपूर्ण तरीके से मतदान सुनिश्चित करने के लिए हरियाणा पुलिस के साथ-साथ केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की कंपनियों को भी मुस्तैदी से तैनात किया जा रहा है। अब तक केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की 15 कम्पनियां पहुंच चुकी है। लोक सभा-2024 चुनाव केवल चुनाव ही नहीं, बल्कि चुनाव का पर्व-देश का गर्व है। इस पर्व को हर्ष, शांति, भाईचारे के साथ मनाना राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालयों की तो जिम्मेदारी है ही, बल्कि हर नागरिक का मौलिक अधिकार भी है। अग्रवाल चुनाव प्रबन्धों को लेकर विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे।

इन जिलों में तैनात की जाएंगी 2-2 कंपनियां

बैठक के दौरान अनुराग अग्रवाल को बताया कि अम्बाला, हिसार, सिरसा, रोहतक लोक सभा क्षेत्र के लिए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सी.आर.पी.एफ.) की दो-दो कम्पनियां तैनात की जाएंगी। इसी प्रकार, सोनीपत लोक सभा क्षेत्र में भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस (आई.टी.बी.पी) की दो कम्पनियां तथा कुरुक्षेत्र, करनाल, भिवानी-महेन्द्रगढ़, गुरुग्राम व फरीदाबाद लोक सभा क्षेत्रों में भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस (आई.टी.बी.पी) की एक-एक कम्पनी तैनात की जाएंगी। केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की कम्पनियों का ठहराव जिला मुख्यालयों पर रहेगा।

वोटर हेल्पलाइन ऐप से डाउनलोड करें मतदाता स्लिप

अनुराग अग्रवाल ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग ने बूथ ऐप के माध्यम से मतदाताओं की डिजिटल पहचान करने की सेवा शुरू की है। मतदाता वोटर हेल्पलाइन ऐप को अपने ईपीआईसी कार्ड से जोड़कर अपनी मतदाता पर्ची को डाउनलोड कर सकते हैं। वोटर टर्न आउट ऐप में कुल जनसंख्या के अनुपात में बने वोटों की संख्या को देखा जा सकता है। दिव्यांगजनों की सुविधा के लिए आयोग ने पीडब्ल्यूडी ऐप आरंभ किया है। इस ऐप का प्रयोग कर दिव्यांगजन अपने नाम, मतदाता पहचान पत्र आदि की जांच कर सकता है। भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर इन सभी एप और उनके बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गई है।

5379487