Logo
election banner
छत्तीसगढ़ में अंधड़, बारिश और बदली का दौर लगातार जारी है। बंगाल की खाड़ी से नमीयुक्त हवा आ रही है। मौसम में बदलाव के कारण गर्मी से काफी राहत मिली है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ में अंधड़, बारिश और बदली का दौर लगातार जारी है। बंगाल की खाड़ी से नमीयुक्त हवा आ रही है। मौसम में बदलाव के कारण गर्मी से काफी राहत मिली है। रायपुर में तापमान सामान्य से 9 डिग्री नीचे गिर गया है। 1 मार्च से 12 अप्रैल तक प्रदेश में 4 सेंटीमीटर बारिश हुई। इस अवधि में रायपुर में 48.9 मिमी और सुकमा-बलरामपुर में सबसे कम बारिश हुई। अगले दो-तीन दिनों तक बारिश के आसार बने हुए हैं। 

बता दें कि, पिछले 24 घंटों में कई जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश हुई। छत्तीसगढ़ मौसम विभाग के अनुसार, द्रोणिका और चक्रीय चक्रवात के कारण आ रही नमी के चलते मौसम में बदलाव हो रहे हैं। शुक्रवार को भी कोरिया, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही, कबीरधाम, बिलासपुर, दुर्ग, राजनांदगांव और धमतरी सहित कई जिलों में बारिश के आसार हैं। इसे लेकर विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। 

क्या है द्रोणिका 

जब बादलों के बीच ठंडी-गर्म हवाएं आपस में टकराती हैं तो कम दबाव का क्षेत्र बनता है। इससे निकलने वाली पट्टी को द्रोणिका कहते हैं। इस वजह से मौसम में बदलाव होता है और अचानक से तेज बारिश होती है।

इसलिए बस्तर में कम पड़ती है गर्मी 

प्रदेश में इस समय पश्चिमी हवाएं आ रही हैं। वहीं बस्तर में आने वाली हवाएं दक्षिणी हैं। समुद्र से आने वाली हवाओं में अच्छी-खासी नमीं रहती है। इस बीच जैसे तापमान में बढ़ोतरी होती है तो नमी के कारण गरज-चमक के साथ बारिश होती है। यही वजह है कि, दूसरो जिलों की तुलना में बस्तर में गर्मी कम पड़ती है और अधिकतर समय बस्तर का मौसम सुहाना रहता है। 
 

jindal steel Ad
5379487