Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मोदी ने एनएचपीसी-निमू बाजगो पनबिजली परियोजना का किया उद्घाटन, दिया तीन पी का नया नारा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को लेह और करगिल के अपने पहले दौरे पर हैं।

मोदी ने एनएचपीसी-निमू बाजगो पनबिजली परियोजना का किया उद्घाटन, दिया तीन पी का नया नारा
लेह. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को लेह और करगिल के अपने पहले दौरे पर हैं जिसके लिए वो मंगलवार सुबह करीब सवा नौ बजे लेह पहुंच गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि सियाचिन पर कोई समझौता नहीं होगा। साथ ही भारतीय सेना की शहादत की याद में जल्द एक राष्ट्रीय युद्ध स्मारक बनाया जाएगा। इसके अलावा पीएम नरेंद्र मोदी ने लेह में दो एनएचपीसी के लेह-करगिल-श्रीनगर ट्रांसमिशन प्रॉजेक्ट लाइन और निमू बाजगो पनबिजली परियोजना का उद्घाटन का उद्घाटन किया। इसके बाद मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि लेह ने जितना मुझे प्यार दिया है उसका कर्ज हर हाल में चुकाऊंगा। अपने भाषण में मोदी ने लेह को तीन पी का एक नया नारा दिया प्रकाश, पर्यावरण और पर्यटन और इन तीनों पी की शक्ति को जमीन पर उतारनी होगी।
पीएम मोदी ने अपनी इस यात्रा के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी को याद करना नहीं भूले और कहा कि जो सपना अटल बिहारी ने देखा था उसे हम साकार करने की कोशिश कर रहे हैं और मुझे उम्मीद है कि ऐसा करने में हम जरूर कामयाब रहेंगे। मोदी ने लेह के विकास के लिए यहां पैदा होने वाले केसर की खेती को बढ़ावा देने की अपनी प्रतिबंद्धता से लोगों को अवगत कराया और कहा कि जम्मू कश्मीर में केसरिया क्रांति लानी है। इसका मतलब यह हुआ कि हम जम्मू-कश्मीर में केसर का उत्पादन दुरुस्त करेंगे। मोदी के इस भाषण में जो सबसे खास बात रही कि उन्होंने जम्मू-कश्मीर के लोगों का दिल जीतने के लिए उन पर केंद्र सरकार का 60 करोड़ का कर्ज माफ करने की घोषणा की।
पीएम नरेंद्र मोदी के साथ इस मंच पर उनके साथ जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री भी मौजूद थे जिन्होंने मोदी का स्वागत करते हुए कहा कि पीएम मोदी का स्वागत करते हुए कहा कि पीएम का लेह की जमीन पर स्वागत है। उन्होंने पीएम को लेह की परेशानियों से अवगत कराते हुए कहा कि लेग जितना खूबसूरत है उतनी ही यहां पर परेशानियां भी हैं। लेह के लोग परेशानी में भी मुस्कान को बनाए रखते हैं, लेकिन हम कई बार गलतफहमी के शिकार हो जाते हैं कि ये मुस्कुरा रहे हैं तो इन्हें कोई समस्या नहीं है।
प्रधानमंत्री का पद संभालने के बाद दूसरी बार जम्मू कश्मीर आ रहे मोदी के की यात्रा के दौरान लेह और करगिल की रोजगार सृजन जैसी स्थानीय मांगों पर ध्यान दिये जाने तथा चीन और पाकिस्तान के साथ क्रमश: लेह से मानसरोवर तक मार्ग शुरू करने एवं करगिल स्कार्दू मार्ग फिर से खोलने का मुद्दा उठाने का आश्वासन दिये जाने की संभावना है।
प्रधानमंत्री लेह और करगिल में जनसभाओं को भी संबोधित करेंगे। लेह शहर प्रधानमंत्री का स्वागत करने के लिए पूरी तरह तैयार है क्योंकि विभिन्न जगहों पर बैनर पोस्टर लगाए गए हैं तथा विभिन्न चौराहों पर भाजपा के प्रतीक चिन्ह कमल के फूल जैसे झंडे लहराते देखे जा रहे हैं। भाजपा ने इस साल पहली बार लद्दाख संसदीय सीट पर कब्जा किया था जब उसके उम्मीदवार थमस्टन चेवांग ने केवल 36 मतों के अंदर से जीत दर्ज की थी। प्रधानमंत्री के साथ इस दौरे पर केन्द्रीय उर्जा मंत्री पीयूष गोयल और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल मौजूद रहेंगे और उनकी यहां हवाई अड्डे पर अगवानी के लिए राज्य के राज्यपाल एनएन वोहरा तथा मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला सहित अन्य वरिष्ठ मंत्री मौजूद रहेंगे।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, मोदी के लेह दौरे में क्या है खास मुद्दा -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top