Logo
election banner
Rahul Gandhi Nomination Wayanad: राहुल गांधी के साथ वायनाड में उनकी बहन प्रियंका गांधी भी मौजूद हैं। उन्होंने एक्स पोस्ट में लिखा कि कुछ महीने पहले भाजपा सरकार ने राहुल गांधी की संसद सदस्यता छीनकर जनता की आवाज दबाने की कोशिश की थी। लेकिन संविधान की ताकत ने उन्हें कामयाब नहीं होने दिया।

Rahul Gandhi Nomination Wayanad: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार, 3 अप्रैल को केरल की वायनाड सीट से नामांकन दाखिल कर दिया है। इससे पहले उन्होंने रोड शो निकाला। उनके साथ बहन प्रियंका गांधी भी मौजूद रहीं। इससे पहले INDI गठबंधन में शामिल सीपीआई की कैंडिडेट एनी राजा ने अपना पर्चा भरा। एनी राजा भी रोड शो की शक्ल में नामांकन स्थल तक पहुंची थीं। वहीं, भाजपा ने राहुल गांधी के खिलाफ के सुरेंद्रन को मैदान में उतारा है। 

2024 के लोकसभा चुनाव में वायनाड सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला है। ऐसे में राहुल गांधी की जीत का अंतर 2019 लोकसभा चुनाव के मुकाबले कम होगा या नतीजे पलटेंगे, इसकी तस्वीर 4 जून को साफ हो जाएगी।  

वायनाड को मैं अपना परिवार मानता हूं
नामांकन से पहले राहुल गांधी ने रोड शो को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि वायनाड में हर एक व्यक्ति ने मुझे प्यार, स्नेह, सम्मान दिया। मुझे अपने जैसा माना। आपका संसद सदस्य होना मेरे लिए सम्मान की बात है। मैं आपके साथ वैसा व्यवहार नहीं करता। मैं आपको एक मतदाता की तरह नहीं मानता। वायनाड के घरों में मेरी बहनें, मां, पिता और भाई हैं। और इसके लिए मैं आपको तहे दिल से धन्यवाद देता हूं।

कांग्रेस सांसद ने कहा कि यहां मानव-पशु संघर्ष का मुद्दा है, मेडिकल कॉलेज का मुद्दा है। मैं इस लड़ाई में वायनाड के लोगों के साथ खड़ा हूं। हमने मेडिकल कॉलेज पर सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश की है। सीएम को पत्र लिखा है। लेकिन दुर्भाग्य से वे आगे नहीं बढ़े हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि अगर दिल्ली में और केरल में हमारी सरकार बनेगी, तो हम दोनों मुद्दों को हल करेंगे।

वायनाड में 26 अप्रैल को वोटिंग
वायनाड सीट पर लोकसभा चुनाव के दूसरे फेज में 26 अप्रैल को वोटिंग होगी। इस दिन 13 राज्यों की कुल 89 सीटों पर मतदान होगा। 2019 के नतीजों की बात करें तो राहुल गांधी को 7 लाख से अधिक वोट मिले थे। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सीपीआई नेता पीपी सुनीर को 5 लाख से अधिक वोटों से हराया था। हालांकि राहुल गांधी अपनी परंपरागत उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से भाजपा नेत्री स्मृति ईरानी से हार गए थे। 

एनी राजा बोलीं- मौजूदा सांसद से लोग निराश
सीपीआई उम्मीदवार एनी राजा पार्टी महासचिव डी राजा की पत्नी हैं। बुधवार को नामांकन दाखिल करने के बाद उन्होंने कहा कि क्षेत्र के लोग मौजूदा सांसद से निराश हैं। वन्यजीव संघर्ष हो या नाइट कर्फ्यू, यहां के लोग मानवीय कारणों से बहुत कठिन स्थिति से गुजर रहे हैं। मैं लोगों की उम्मीदें समझ रही हूं। अक्सर लोग मुझसे एक सवाल पूछते हैं कि जीतने के बाद क्या वह लोगों के बीच रहेंगी? मैं लोगों को भरोसा देती हूं कि यदि मुझे चुना गया तो वायनाड में ही रहूंगी। 

सुरेंद्रन ने कहा- कोई काम नहीं हुआ
वहीं, भाजपा उम्मीदवार के सुरेंद्रन पार्टी प्रदेश अध्यक्ष हैं। उन्होंने कहा कि ये अच्छा है कि राहुल गांधी आखिरकार नामांकन दाखिल करने के लिए वायनाड आ रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राहुल गांधी ने वायनाड में कोई काम नहीं कराया है।

2019 में वायनाड लोकसभा चुनाव के नतीजे

उम्मीदवार पार्टी वोट वोट प्रतिशत
राहुल गांधी कांग्रेस 706,367 64.8

पीपी सुनीर

सीपीआई
 
274,597
 
25.19

तुषार वेल्लापल्ली

बीडीजेएस
 
78,816
 
7.23

बाबू मणि

एसडीपीआई
 
5,426
 
0.5

शिजो एम. वर्गीस

निर्दलीय
 
4,111
 
0.38

मुजीब रहमान

निर्दलीय
 
2,692
 
0.25

मोहम्मद पी.के.

बीएसपी
 
2,691
 
0.25

राहुल गांधी - के.ई. वलसम्मा

निर्दलीय
 
2,196
 
0.2

सिबी वयलिल

निर्दलीय
 
2,164
 
0.2

बीजू कक्कतोड

निर्दलीय
 
2,090
 
0.19

डॉ के. पद्मराजन

निर्दलीय
 
1,887
 
0.17

उषा के.

सीपीआईएमएलआर
 
1,424
 
0.13

एडवोकेट श्रीजित पी.आर.

निर्दलीय
 
1,208
 
0.11

प्रवीण के.पी.

निर्दलीय
 
1,102
 
0.1

राघुल गांधी - के. कृष्णन पी.

एआईएमके
 
845
 
0.08

सेबेस्टियन वायनाड

निर्दलीय
 
550
 
0.05

जॉन पी.पी.

एसडीपी
 
544
 
0.05

त्रिशूर नज़ीर

निर्दलीय
 
523
 
0.05

नरुकुरा गोपी

निर्दलीय
 
489
 
0.04

के.एम. शिवप्रसाद गांधी

आईजीपी
 
320
 
0.03
5379487