Logo
election banner
NIA team attacked in West Bengal: 2022 में हुए विस्फोट मामले में जांच के लिए एनआईए टीम पूर्वी मिदनापुर जिले के भूपतिनगर पहुंची थी। लेकिन उन पर भीड़ ने हमला कर दिया। मामले की जांच की जा रही है।

NIA team attacked in West Bengal: पश्चिम बंगाल से बड़ी खबर है। यहां पूर्वी मेदिनीपुर (मिदनापुर) जिले के भूपतिनगर में शनिवार सुबह राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी NIA टीम पर हमला हुआ। अधिकारियों की एक टीम दो टीएमसी नेताओं को गिरफ्तार करने के लिए भूपतिनगर गई थी। अचानक 150 ग्रामीण एकत्र हो गए और एनआईए टीम को आरोपियों को अपने साथ ले जाने से रोकने की कोशिश की। इस दौरान भीड़ ने एनआईए के वाहनों पर पथराव किया। तोड़फोड़ की। हमले में 2 अफसरों के घायल होने की खबर है। 

टीएमसी लीडर मनबेंद्र जाना को पकड़ने पहुंची थी टीम
दरअसल, 2022 में हुए एक विस्फोट मामले की एनआईए कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश पर जांच कर रही है। पिछले महीने एनआईए ने पूछताछ के लिए 8 टीएमसी नेताओं को बुलाया था। सभी को 28 मार्च को न्यू टाउन स्थित एनआईए कार्यालय में तलब किया गया था। 

एनआईए टीम उसी सिलसिले में टीएमसी लीडर मनबेंद्र जाना और एक अन्य को गिरफ्तार करने भूपतिनगर पहुंची थी। लेकिन जांच के दौरान उन्हें प्रदर्शन का सामना करना पड़ा। लोगों ने आरोपियों को रिहा कराने की कोशिश की। इसके लिए पथराव किया। कारों में तोड़फोड़ करने की कोशिश की। जिससे कार की विंड स्क्रीन छतिग्रस्त हो गई। सूचना पाकर फोर्स मौके पर पहुंची है। 

पुलिस सूत्रों का कहना है कि एनआईए के अधिकार सुबह करीब साढ़े पांच बजे पहुंचे थे। पुलिस सुरक्षा भी नहीं ली थी। अगर लिखित शिकायत मिलेगी तो कार्रवाई की जाएगी। 

क्या है भूपतिनगर विस्फोट मामला?
भूपतिनगर में 2022 में एक टीएमसी नेता के घर विस्फोट हुआ था। इससे घर धराशाई हो गया था। जबकि तीन लोगों की मौत हुई थी। इस मुद्दे पर टीएमसी और भाजपा आमने सामने है। टीएमसी नेता कुणाल घोष ने आरोप लगाया है कि एनआईए जांच के पीछे भाजपा की साजिश है। भाजपा ने ही टीएमसी नेताओं की लिस्ट एनआईए को दी है। इसलिए एजेंसी उनके घरों पर छापा मार रही है। 

5379487