Logo
Cyclone Remal: रेमल साइक्लोन से नुकसान की आशंका के चलते बंगाल सरकार ने सुरक्षित आश्रयों के लिए सुंदरबन और सागर द्वीप समेत अन्य तटीय इलाकों से करीब 1.10 लाख लोगों को निकाला है।

Cyclone Remal: बंगाल की खाड़ी में उठा रेमल साइक्लोन रविवार आधी रात को पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तट से टकराया। तूफान के असर से तेज हवाओं के साथ तटीय इलाकों में भारी से अति भारी बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने कहा है कि लैंडफॉल की प्रक्रिया चार घंटे तक जारी रहने की उम्मीद है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देर शाम चक्रवात रेमल की तैयारियों की जांच के लिए एक बैठक की। दूसरी ओर, बांग्लादेश में रविवार को संवेदनशील इलाकों से 8 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

प्रधानमंत्री मोदी ने तूफान को लेकर अहम बैठक की
पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र ने राज्य को पूरा सहयोग दिया और इसे आगे भी जारी रखना चाहिए। सुरक्षा बलों की और टीमों को तैयार रखा जाएगा। एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की 32 बटालियन पहले से ही तटीय क्षेत्रों में तैनात हैं। साइक्लोन से नुकसान की आशंका के मद्देनजर राज्य सरकार ने सुरक्षित आश्रयों के लिए सुंदरबन और सागर द्वीप समेत अन्य तटीय इलाकों से करीब 1.10 लाख लोगों को निकाला है।

बंगाल में हवाई और रेल यातायात प्रभावित हुआ
अहतियात के तौर पर कोलकाता से हवाई और रेल यातायात बंद कर दिया गया। कोलकाता एयरपोर्ट के अधिकारियों ने बताया कि रविवार दोपहर से 21 घंटे के लिए उड़ान संचालन रोका गया है। पूर्वी और दक्षिण पूर्वी रेलवे ने कई ट्रेनें रद्द कीं। एयरपोर्ट अथॉरिटी-एएआई के एक अधिकारी ने कहा कि तूफान के कारण कुल 394 उड़ानें- अंतरराष्ट्रीय और घरेलू दोनों कैंसिल की गई हैं। 

ओडिशा, मिजोरम और बिहार में बारिश का अनुमान
मौसम विभाग ने रविवार और सोमवार को ओडिशा तट, विशेषकर बालासोर, भद्रक और केंद्रपाड़ा जिलों में भारी बारिश होने का पूर्वानुमान लगाया है। इसके अलावा, 27 मई को मयूरभंज में भारी बारिश हो सकती है। तूफान के असर से 110-120 किमी/घंटा की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं, साथ ही 1.5 मीटर ऊंची लहरें भी आ सकती हैं, जिससे पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटीय इलाकों में बाढ़ की चिंता बढ़ गई। मौसम विभाग ने मछुआरों को चेतावनी जारी है कि वे 27 मई की सुबह तक बंगाल की खाड़ी के उत्तरी हिस्से में मछली पकड़ने नहीं जाएं। 

बंगाल के बंदरगाह से ऑपरेशन रोका गया
चक्रवात रेमल से होने वाले संभावित खतरों को देखते हुए बंगाल के श्यामा प्रसाद मुखर्जी बंदरगाह से रविवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक कार्गों और कंटेनर हैंडलिंग से जुड़े कार्यों पर रोक लगाई गई। मौसम विभाग की ओर से जारी अलर्ट के मुताबिक 26-27 मई को उत्तर 24 परगना में 90 से 100 किमी प्रति घंटे से 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। इसके साथ ही अगले दो दिन में दक्षिण 24 परगना में 100 से 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है।

केरल से लेकर त्रिपुरा तक भारी बारिश का अलर्ट
मिजोरम, त्रिपुरा और मणिपुर में मध्यम से भारी बारिश होने का अनुमान है। इसके साथ ही असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा और बिहार के कुछ हिस्सों में भी बारिश होने की संभावना है। भारी से बहुत भारी बारिश और तेज हवाओं के पूर्वानुमान के बाद त्रिपुरा ने सभी आठ जिलों में अलर्ट जारी किया। उधर, केरल में लगातार भारी बारिश हो रही है, जिससे सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

jindal steel hbm ad
5379487