Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Haryana Assembly Election: पोलिंग बूथ में मतदाता ले जा सकेंगे मोबाइल, वोटिंग स्लिप पर होगा क्यू आर कोड

Haryana Assembly Election: गुरुग्राम (Gurugram0 जिले के बादशाहपुर विधानसभा (Badshapur Constituency) क्षेत्र में मतदाता पोलिंग बूथ में मोबाइल फोन (Mobile In Polling Booth) ले जा सकेंगे। चुनाव आयोग चुनाव की प्रक्रीया में और अधिक पारदर्शिता लाने के लिए बूथ ऐप (Booth App) को बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र में प्रयोग के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा। इसके लिए चुनाव आयोग ने बादशाहपुर के मतदाताओं को अनुमति दी है।

पोलिंग बूथ में मतदाता ले जा सकेंगे मोबाइल, वोटिंग स्लिप पर होगा क्यू आर कोडVoters will be able to take mobile to polling booth, QR code will be on voting slip

Haryana Assembly Election: हरियाणा विधानसभा चुनाव में इस बार एक नया प्रयोग किया जाएगा। वोटिंग की प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए और मतदाताओं के लिए वोटिंग में सुविधा को बढ़ाने के लिए मतादाताओं (Voters) को पोलिंग बूथ (Polling Booth) में फोन (Mobile Phone) ले जाने की अनुमति दी जाएगी। लेकिन प्रयोग के तौर पर यह केवल गुरूग्राम (Gurugram) जिले के बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र (Badshahpur Assembly Constituency) में होगा। यह प्रयोग एक ऐप के लिए किया जा रहा है जिसका नाम है बूथ एप (Booth App)। गुरूग्राम के अलावा इस ऐप को लेकर प्रयोग करने के लिेए हिसार (Hisar) और फरीदाबाद (Faridabad) जिलों को भी चुना गया है।

बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी एवं अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इरफान से मिली जानकारी के अनुसार चुनाव आयोग के निर्देशानुसार बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र में बूथ ऐप का इस्तेमाल किया जाएगा। आमतौर पर पोलिंग बूथ के अंदर मोबाइल फोन लेकर जाने की अनुमति नहीं होती है। लेकिन बूथ ऐप के प्रयोग की वजह से बादशाहपुर विधानसभा के मददाताओं को चुनाव आयोग द्वारा इसके लिए विशेष अनुमति दी गई है। बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र में कुल तीन लाख 95 हजार मतदाता हैं। मतदान के लिए 362 बूथ बनाए गए हैं। इन सभी बूथों पर 'बूथ ऐप' का इस्तेमाल किया जा सकेगा।

मोहम्मद इरफान ने बाताय कि, यह ऐप ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों मोड पर काम करेगा। अगर बूथ में मोबाइल नेटवर्क नहीं आ रहा है तो एसएमएस के चरिए यह प्रक्रिया चलेगी और मोबाइल नेटवर्क आ जाने पर बूथ एप पर डाटा खुद ही अपडेट हो जाएगा। बूथ ऐप के माध्यम से मतदाताओं का डाटा अल्फाबेटिकली अपलोड हो जाएगा। जिसके जरिए बीएलओ के फोन पर भी मतदाता की जानकारी उपलब्ध होगी। बूथ ऐप का एक फायदा यह भी होगा कि, अगर मतदाता अपनी वोटिंग स्लिप लिए बिना बूथ पर आता है तो ऑनलाइन वोटिंग स्लिप को डाउनलोड करके बीएलओ को दिखाकर वोट कर सकेगा। वोटर की डीटेल जानकारी के लिए बीएलओ मतदाता की वोटिंग स्लिप पर मौजूद क्यू आर कोड (QR Code) को स्कैन भी कर सकता है। बूथ ऐप के प्रयोग को लेकर इस वार बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं को अलग प्रकार की वोटिंग स्लिप बांटी जाएंगी। जिन पर क्यू आर कोड बना होगा।

Next Story
Top