Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Career Advice: प्रोग्रेस के लिए अपनी योग्यता को करते रहें अपडेट, नौकरी पाने में रहेगी आसानी

हायर पोस्ट की सरकारी या निजी नौकरी की इच्छा रखने वाले युवाओं को अपनी योग्यता को अपडेट रहना चाहिए, उससे नौकरी पाने में आसानी होगी।

Career Advice: प्रोग्रेस के लिए अपनी योग्यता को करते रहें अपडेट, नौकरी पाने में रहेगी आसानी

हायर पोस्ट की सरकारी या निजी नौकरी की इच्छा रखने वाले युवाओं को अपनी योग्यता को अपडेट रहना चाहिए, उससे नौकरी पाने में आसानी होगी। यह भी जरूर याद रखें कि एक बार नौकरी मिल जाने के बाद उसी में खोकर न रह जाएं, बल्कि तरक्की और पहचान पाने के लिए अपनी योग्यता को लगातार अपडेट करते रहें।

सवाल - मैंने जियोग्राफी और पॉलिटिकल साइंस से बीए किया है। मुझे प्राइवेट या सरकारी नौकरी के लिए क्या करना चाहिए? -कुलदीप कुमार, हिसार

उत्तर - अगर आप हायर पोस्ट की सरकारी या निजी नौकरी की इच्छा रखते हैं, तो आपको अपनी योग्यता और बढ़ानी होगी। इसके लिए आप जियोग्राफी में एमए या फिर मौसम विज्ञान में स्पेशलाइज्ड कोर्स कर सकते हैं। भारत में एग्रीकल्चर की जरूरतों और तटीय क्षेत्रों में अकसर आने वाले चक्रवाती तूफानों की वजह से सरकारी और निजी दोनों ही क्षेत्रों में इन विषयों के विशेषज्ञों की मांग लगातार बढ़ रही है। हां, अगर आप आगे पढ़ाई की बजाय ग्रेजुएशन के आधार पर ही नौकरी पाना चाहते हैं, तो सरकारी नौकरी के लिए एसएससी, भारतीय रेलवे, नेशनलाइज्ड बैंक, संघ और राज्य लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित प्रतियोगिता परीक्षा की अच्छी तैयारी करते हुए अपनी जगह बना सकते हैं। निजी क्षेत्र की कंपनियां ज्वाइन करने से पहले आप इंडस्ट्री की जरूरतों के अनुसार अपनी रुचि का कोई एडवांस कोर्स कर लें। उसके आधार पर आपको नौकरी पाने में आसानी होगी। यह भी जरूर याद रखें कि एक बार नौकरी मिल जाने के बाद उसी में खोकर न रह जाएं, बल्कि तरक्की और पहचान पाने के लिए अपनी योग्यता को लगातार बढ़ाते/अपडेट करते रहें।


सवाल - मैंने इसी साल इंटर साइंस से किया है। मैं वोकेशनल कोर्स के बारे में जानना चाहता हूं। करियर के लिहाज से ये कितने सहायक होते हैं? -जतिन, कोरबा

उत्तर - प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, स्किल इंडिया आदि के तहत देशभर में कई तरह के वोकेशनल कोर्स संचालित किए जा रहे हैं। इसके अलावा, आईटीआई और पॉलिटेक्निक द्वारा पहले से ही इस तरह के कोर्स चलाए जा रहे हैं। अगर आप जल्दी जॉब पाना चाहते हैं, तो अपनी पसंद के क्षेत्र में इस तरह के कोर्स काफी उपयोगी हो सकता

है। इसके आधार पर सरकारी और निजी क्षेत्र में शुरुआती स्तर की नौकरी आसानी से मिल सकती है। लेकिन अगर आप उच्च पदों पर तेजी से तरक्की करना चाहते हैं, तो आपको अपनी योग्यता लगातार बढ़ानी होगी। अगर आप बारहवीं के बाद वोकेशनल कोर्स करके नौकरी पा जाते हैं, तो वैकल्पिक पढ़ाई के तौर पर इग्नू या किसी अन्य यूनिवर्सिटी से ओपन लर्निंग के जरिए ऐसा कर सकते हैं। इस तरह के कोर्स भी मान्यता प्राप्त होते हैं।

सवाल - मैंने जूलॉजी से एमएससी किया है। मैं डेयरी साइंस में करियर बनाना चाहता हूं। इसके लिए मैं क्या करूं? -चंद्र प्रकाश, दुर्ग

उत्तर - आपको पता होगा, भारत दुनिया के सर्वाधिक दुग्ध उत्पादक देशों में शामिल है। ऐसे में यहां सरकारी और निजी दोनों ही क्षेत्रों में हर तरह के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार की खूब संभावनाएं हैं। ऐसे में अगर आप डेयरी साइंस में कोई अपडेटेड कोर्स भी कर लें, तो इससे आपकी वैल्यू और बढ़ सकती है। इस तरह के कोर्स आज के समय में कई संस्थानों द्वारा संचालित किए जा रहे हैं। आपको सरकारी-सहकारी संस्थानों (जैसे-अमूल, एडीडीबी, मदर डेयरी) के अलावा राज्य सरकारों द्वारा संचालित दुग्ध उत्पादक/आपूर्ति संस्थानों में अवसर मिल सकते हैं। इसके अलावा, आज देश में डेयरी प्रोडक्शन के क्षेत्र में कई निजी कंपनियां भी काम कर रही हैं। उनमें भी अवसर हैं।

सवाल - मैं बीजेएमसी कर चुका हूं। क्या इसके बाद मुझे जॉब मिल जाएगी या मुझे पीजी करना होगा? -ज्योति शंकर द्विवेदी

उत्तर - जर्नलिज्म/मास कम्युनिकेशन एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें सिर्फ डिग्री के आधार पर नौकरी कतई नहीं मिल सकती। इसके लिए आपको लेखन और क्रिएटिविटी के क्षेत्र में अपनी प्रतिभा दिखानी होगी और लोगों को प्रभावित करना होगा। अगर आपने इसमें दक्षता हासिल कर ली है, तो प्रिंट मीडिया से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और डिजिटल तक में आपको आसानी से जॉब मिल सकती है। इसके लिए आपको मार्केट/इंडस्ट्री को समझते हुए उसके हिसाब से भी खुद को तैयार करते रहना होगा।

सवाल - मैं ओपन मोड से एमए हिंदी से कर रहा हूं। मैंने बीएससी किया है। क्या इसके बाद नेट क्लीयर करने पर मैं कॉलेज में लेक्चरर बन सकता हूं?-हरि सिंह, जबलपुर

उत्तर - अगर आप एमए में न्यूनतम 55 प्रतिशत अंक हासिल कर लेते हैं, तो आप इसी विषय से नेट दे सकते हैं। पर नेट क्लीयर कर लेने के बाद आप इसके आधार पर कॉलेजों में लेक्चरर/असिस्टेंट प्रोफेसर पद के लिए आवदेन कर सकते हैं। नेट क्लीयर कर लेने मात्र से ही लेक्चरर बनने की गारंटी नहीं हो जाती। आपको इस पद की प्रतिस्पर्धा में भी दूसरों से बेहतर साबित होना होगा, तभी आप अपनी जगह सुनिश्चित करा सकते हैं। अपनी योग्यता बढ़ाने के लिए आप एमफिल/पीएचडी करने के साथ लेखन में भी सक्रियता दिखाएं। इसका लाभ आपको नि:संदेह मिलेगा।

ज्ञान प्रकाश

Next Story
Share it
Top